Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

इमरान राजा दैनिक चिरंतन शाजापुर ।

 

शाजापुर। नवरात्रि, दशहरा एवं अन्य त्यौहारों को सौहार्दपूर्ण एवं शांति के साथ मनाए जाने को लेकर कलेक्टर दिनेश जैन ने हिन्दु धर्म के प्रतिनिधियों, केमिस्ट एसोसिएशन, व्यापारी संघ, होटल संघ, हिन्दु उत्सव समिति एवं संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ शुक्रवार को बैठक लेकर चर्चा की। इस दौरान पुलिस अधीक्षक पंकज श्रीवास्तव, अपर कलेक्टर शैली कनास, सहित अन्य प्रतिनिधि एवं शासकीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे। बैठक में कलेक्टर जैन ने कहा कि आने वाले त्यौहारों को शासन द्वारा कोविड 19 के परिप्रेक्ष्य में जारी की गई नवीन गाईड लाइन के अनुरूप मनाए। उन्होने कहा कि कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं, इसके लिए सावधानी रखी जाना अति आवश्यक है। उन्होने कहा कि सबसे पहले जीवन की रक्षा करना ध्येय होना चाहिए। राज्य शासन में सबकुछ विचार करने के बाद ही गाईड लाइन बनाई है। सभी लोग गाईड लाइन के अनुरूप त्यौहारों को मनाए। उन्होने प्रतिनिधियों से कहा कि वे समाज में जाकर सभी लोगों को शासन की गाईड लाइन से अवगत कराएं। पुलिस अधीक्षक श्रीवास्तव ने कहा कि शासन द्वारा दी गई गाईड लाइन के मुताबिक ही कार्यक्रमों का आयोजन किया जा सकता है। बैठक में खान-पान की दुकानों के खुलने एवं बंद होने के समय पर चर्चा हुई। कलेक्टर ने कहा कि नगर में अव्यवस्थित रूप से लगी गुमटियों के कारण यातायात बाधित हो रहा है, इन गुमटी धारियों को अन्य स्थानों पर जगह दी जाएगी। उन्होने कहा कि किसी का भी रोजगार छीना नहीं जाएगा औरउन्हें व्यवस्थित किया जाएगा। इस मौके पर मनीष सोनी ने बताया कि शहर में लगभग 15 स्थानों पर घट स्थापना होती है। वहीं लगभग 40 स्थानों पर प्रतिमा स्थापित की जाती है। नवरात्रि का त्यौहार 17 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक मनाया जाएगा और 28 अक्टूबर को दशहरे का त्यौहार है।
महामारी की रोकथाम के लिए नवीन निर्देश
राज्य शासन द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव हेतु आगामी कार्यक्रम एवं धार्मिक त्यौहारों के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए गए हंै। कलेक्टर ने बताया कि आगामी माहों में आने वाले त्यौहारों के दौरान सार्वजनिक स्थानों पर प्रतिमा एवं झांकियों की स्थापना के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम एवं बचाव हेतु शासन द्वारा गाईड लाइन जारी की गई है। नवीन गाईड लाइन के अनुसार विभिन्न सार्वजनिक स्थानों पर स्थापित की जाने वाली प्रतिमा की उंचाई अधिकतम 06 फीट होगी और पंडाल का साईज 10 बाई 10 फीट अधिकतम रखा जा सकेगा। आयोजक सभी मूर्तिकारों को तत्काल आवश्यक रूप से अवगत कराएं कि प्रतिमा की उंचाई 06 फीट या उससे कम रखा जाना बंधनकारी है। सामाजिक, सांस्कृतिक एवं अन्य कार्यक्रमों के आयोजन के संबंध में गृह मंत्रालय भारत सरकार के तथा राज्य के गृह विभाग द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार 100 से कम व्यक्तियों की उपस्थिति के साथ आयोजन किए जा सकेंगे तथा इसके लिए आयोजक को जिला प्रशासन से पूर्वानुमति प्राप्त करना आवश्यक होगा। साथ ही कोविड संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए किसी भी धार्मिक एवं सामाजिक आयोजन के लिए चल समारोह निकालने की अनुमति नही होगी। साथ ही गरबा के आयोजन नही हो सकेंगे। लाउड स्पीकर बजाने के संबंध में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा जारी की गई गाईड लाइन का पालन किया जाना अनिवार्य होगा। मूर्ति विर्सजन के लिए 10 से अधिक व्यक्तियों के समूह को अनुमति प्रदान नही की जाएगी। साथ ही इसके लिए संबंधित आयोजकों को पृथक से जिला प्रशासन से लिखित अनुमति पूर्व से प्राप्त किया जाना आवश्यक होगा। जिला प्रशासन द्वारा विसर्जन के लिए विकेन्द्रीकृत व्यवस्था बनाई जाकर उपयुक्त स्थानों का चयन किया जाएगा, ताकि विसर्जन स्थल पर कम भीड़ हो। सार्वजनिक स्थानों पर कोविड संक्रमण से बचाव के तारतम्य के झांकियों, पंडालों, गरबा, विसर्जन के आयोजनों में श्रद्धालू फेस कवर, सोशल डिस्टेसिंग एवं सेनेटाईजर के प्रयोग करेंगे और राज्य शासन द्वारा जारी किए गए निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करना होगा। समस्त दुकानें रात्रि 08 बजे तक खुलने की अनुमति होगी। केमिस्ट, रेस्तरां, भोजनालय, राशन एवं खानपान से संबंधित दुकानें 08 बजे के बाद भी अपने निर्धारित समय तक खुली रह सकती हैं। रात्रि 10.30 बजे से सुबह 06 बजे तक अकारण आवागमन न हो इसके लिए नियमित रूप से पेट्रोलिंग व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी और दुकानों का निंरतर निरीक्षण कराया जाएगा। दुकान संचालकों से अपेक्षा की गई है कि वह स्वयं मास्क पहने तथा ग्राहकों के उपयोग के लिए सेनेटाईजर तथा सोशल डिस्टेसिंग के लिए 1-1 गज की दूरी पर घेरे बनाएं। ऐसा नही करने वाले संचालकों के विरूद्ध नियमानुसार जुर्माना एवं अन्य दाण्डिक कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: