Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

हिसार : हरियाणा के रोहतक जिले के एक व्यवसायी ने हिसार के प्रॉपर्टी डीलर और महिला से 1 करोड़ 11 लाख रुपए ठगे हैं। ठगी का आरोपी शमशेर सिंह रोहतक के मॉडल टाउन एरिया का रहने वाला है और आर्मी से मेजर जनरल पद से रिटायर है। हिसार में भरोसा प्रॉपर्टीज नाम से डिलिंग करने वाले अमित कुकरेजा ने शिकायत देकर आरोपी शमशेर सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं में केस दर्ज करवाया है।

इसे भी पढ़े : मामा ने गला दबाकर 4 साल की मासूम भांजी हत्या की

विवाद हिसार के सेक्टर 5 में 538 गज के प्लॉट से जुड़ा है। पीड़ित पक्ष का कहना है कि शमशेर सिंह ने प्लॉट बेचने के नाम पर हिसार निवासी ऊषा पूनिया से राशि हड़पी है और प्रॉपर्टी डीलर अमित कुकरेजा ने यह सौदा करवाया था। पुलिस ने केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। शिकायत में अमित कुकरेजा ने बताया कि आरोपी शमशेर सिंह ने उससे कहा था कि वह सेक्टर 5 में स्थित अपना प्लॉट बेचना चाहता है।

अमित के अनुसार, उन दोनों में 12 हजार रुपए प्रति गज के हिसाब से सौदा तय हो गया था। 2 अक्टूबर को शमशेर व उसकी पत्नी ने हिसार आकर इस बारे में बातचीत की थी। शमशेर ने कहा था कि प्लॉट की एनहांसमेंट की राशि मेरे नाम से विभाग में जमा करवा दो, उसके बाद जो भी हिसाब होगा, वह आपस में कर लेंगे। 31 जनवरी को शमशेर ने उनसे बयाना के नाम के 10 लाख रुपए ले लिए और उसके बाद 31 जुलाई का प्लॉट की कीमत के बकाया 64 लाख रुपए और ले लिए।

अमित के अनुसार शमशेर ने उससे कहा था कि अगर वह किसी अन्य को भी यह प्लॉट बेचना चाहता है तो वह सीधा खरीददार के नाम पर प्लॉट ट्रांसफर करवा देगा। इसके बाद अमित ने उस प्लॉट का सौदा अर्बन इस्टेट निवासी वजीर पूनिया की पत्नी ऊषा पूनिया के साथ तय कर लिया। सौदा तय होने के बाद प्लॉट के बकाया पैसे ऊषा पूनिया व अमित कुकरेजा ने 31 मार्च 2021 तक 1 करोड़ 50 लाख रुपए शमशेर के खाते में ट्रांसफर कर दिए।

इस पैसों में से 39 लाख रुपए शमशेर द्वारा वापस कर दिए गए थे। अमित के अनुसार प्लॉट की पूरी कीमत अदा हो जाने के बाद भी शमशेर सिंह प्लॉट नाम करवाने को तैयार नहीं है और बार-बार टालमटोल कर रहा है। कभी वह खुद के यहां इनकम टैक्स की छापामारी की बात बोलकर तो कभी खुद के कोरोना संक्रमित होने की वजह से रजिस्ट्री टलवा चुका है। प्लॉट के बारे में बात करने के लिए वह खुद और ऊषा पूनिया का बेटा आरोपी के घर गए तो उसने गालियां देनी शुरू कर दी और जान से मारने की धमकी देते हुए प्लॉट नाम करवाने से साफ मना कर दिया।

Leave a Reply

%d bloggers like this: