Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

रायपुर। छत्‍तीसगढ़ के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ जब किसी आइपीएस अधिकारी को 14 दिन की रिमांड पर जेल भेजा गया हो। आय से अधिक संपत्ति मामले में निलंबित आइपीएस अधिकारी जीपी सिंह को दो फरवरी तक न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा गया। मंगलवार को जीपी सिंह को दोपहर करीब दो बजे रायपुर कोर्ट में पेश किया गया। जीपी सिंह को 14 दिन की न्यायिक रिमांड पर जेल भेजने का फैसला जज ने सुनाया। वैसे पुलिस ने अतिरिक्‍त रिमांड के लिए नहीं लगाया था आवेदन। वहीं कोर्ट परिसर में सुरक्षा बल के जवान बड़ी संख्‍या में तैनात दिखे। विशेष न्यायाधीश लीना अग्रवाल की कोर्ट ने जेल भेजा। वहीं खबर लिखे जाने तक जीपी सिंह की जमानत अर्जी पर फैसला आना शेष है। जीपी सिंह की 11 जनवरी को हरियाणा के गुरुग्राम से गिरफ्तारी हुई थी।

इसे भी पढ़े : भय्यू महाराज आत्महत्या मामले में 28 को फैसला

रायपुर कोर्ट में पहली बार 12 जनवरी को पेश किया गया था, सुनवाई के बाद कोर्ट ने पुलिस को दो दिन की रिमांड थी। इसके बाद दो दिन की रिमांड पूरी होने पर 14 जनवरी को फिर पेश किया गया था, इस दिन कोर्ट ने चार दिन और रिमांड दी थी। रिमांड पूरी होने पर मंगलवार को फिर जीपी सिंह को रायपुर कोर्ट में विशेष न्यायाधीश लीना अग्रवाल के समक्ष पेश किया गया है। नईदुनिया ने पहले ही बता दिया था कि निलंबित आइपीएस जीपी सिंह न्यायिक हिरासत में भेजे जा सकते हैं।

वहीं जीपी सिंह के वकीलों और स्‍वजन ने दावा किया है कि जीपी सिंह जांच में पूरी तरह सहयोग कर रहे हैं। पुलिस के दबाव के चलते उनकी तबीयत पर असर पड़ा है। बीपी की समस्या की वजह से जीपी सिंह का स्वास्थ्य ठीक नहीं है। पिछली दफा रायपुर कोर्ट परिसर में सुनवाई के बाद पत्रकारों से कहा था कि नागरिक आपूर्ति निगम की जांच कर रहा था, तब इस मामले में रमन सिंह और वीणा सिंह को फंसाने के लिए कहा गया था।

Leave a Reply

%d bloggers like this: