Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

 सुसनेर  से यूनुस खान लाला की रिपोर्ट चिरंतन न्यूज़ के लिए

 

इंदौर कोटा नेशनल हाईवे 552 जी पर डूंगर गांव में मध्य प्रदेश और राजस्थान की सीमा पर स्थित एकीकृत जांच चौकी पर ट्रक चालकों से अवैध वसूली का मामला सामने आया है। यहां से गुजरने वाले ट्रक चालकों ने चेक पोस्ट पर कार्य करने वाले कर्मचारियों पर टैक्स के नाम पर मनमाने तरीकों से अवैध वसूली करने का आरोप लगाया है । पंजाब के ट्रक क्रमांक एम एच 13 ई एम 3245 के चालक वीरेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि ट्रक चालकों को बेवजह परेशान किया जा रहा है ।₹800 की रसीद दे कर के 12 सौ रुपए लिए गए हैं , तो वही महेश वाह बबलू गुर्जर से 15 सो रुपए लिए गए हैं ।उल्लेखनीय है कि यह जांच चौकी पहले भी कई बार विवादों के घेरे में आ चुकी है। इससे पहले भी मनमाने तरीकों से रुपए वसूलने को लेकर चालक व परिचालकों ने एकजुट होकर परिवहन विभाग के खिलाफ जमकर प्रदर्शन भी किया था तब जैसे-तैसे मामला शांत हुआ। उसके बाद कोरोना संक्रमण के चलते 4 चरणों में लगातार लाक डाउन लगा रहा इस वजह से इस इंदौर कोटा नेशनल हाईवे मार्ग पर अन्य राज्यों से मध्यप्रदेश में आने वाले भारी वाहन व एमपी की सीमा राजस्थान से होते हुए हरियाणा पंजाब महाराष्ट्र सहित कई अन्य राज्यों की ओर जाने वाले वाहनों के पहिए थमे रहे । इसी बीच ट्रांसपोर्ट का तो काफी नुकसान हुआ । साथ ही इन ट्रकों के चलाने वाले चालक व परिचालक भी 4 से 6 माह तक बेरोजगार ही घर बैठे रहे कुछ ने तो परिवार चलाने के लिए अपना धंधा तक बदल लिया अब जब पुनः परिवहन शुरू हुआ तो डूंगर गांव की चेकपोस्ट पर कर्मचारियों ने परिवहन के नाम पर लिए जाने वाले टैक्स की आड़ में अधिक अवैध वसूली फिर से शुरू कर दी है। कुछ वाहन चालक इसका विरोध भी करते हैं लेकिन उनकी सुनने वाला कोई नहीं मिलता है ।

परिवहन विभाग की साठगांठ से चल रहा है अवैध वसूली का खेल —

सुसनेर से करीब 45 किलोमीटर दूर एकीकृत जांच चौकी पर परिवहन विभाग के द्वारा बनाई गई चेक पोस्ट पर कर्मचारियों के द्वारा की जा रही अवैध वसूली का यह खेल विभाग के ही वरिष्ठ अधिकारियों की सांठगांठ से चल रहा है । सूत्रों के अनुसार टेक्स के साथ ऊपर की राशि अवैध रूप से ट्रक चालकों से वसूल की जाती है । उसमें से कुछ राशि अधिकारी के पास भी चोरी चुपके पहुंचाई जाती है । यही कारण है कि इस चेक पोस्ट पर अवैध वसूली का मामला सामने आता है तो अधिकारी जांच करने तक नहीं पहुंचते हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: