Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

नागदा जं. निप्र। बुधवार को अभिभाषक संघ नागदा के पदाधिकारियों एवं सदस्यों ने उच्च न्यायालय जबलपुर के मुख्य न्यायाधिपति के नाम एक ज्ञापन जिला एवं सत्र न्यायाधीश विक्रमसिंह बुले को सौंपते हुए नियमित न्यायालय की मांग की।
प्रेषित ज्ञापन में इस बात का उल्लेख किया गया कि कोरोना महामारी संक्रमण के कारण मध्यप्रदेश के अधीनस्थ न्यायालयों में विगत मार्च माह से प्रकरणों के लंबित होने के कारण नियमित सुनवाई नहीं हो पा रही है। जिसके कारण पक्षकारों को कठिनाईयों का सामना करना पड रहा है वहीं अभिभाषकों को भी आर्थिक संकट का सामना करना पड रहा है साथ ही पक्षकारों को भी शीघ्र न्यायल मिलने में कठिनाई आ रही है। अभिभाषकों ने कहा कि वर्तमान समय में अनलाॅक के चलते पुरे भारतवर्ष में जन जीवन सामान्यता की और बढ रहा है व सभी उद्योग, बाजार, आवागमन के स्त्रोत, शासकीय कार्यालय भी नियमित रूप से प्रारंभ हो गए हैं। जबकि वर्तमान में भी न्यायालयीन कार्य सुचारू रूप से संचालित नहीं हो पा रहे हैं। ऐसे में न्यायालयीन कार्य को भी कोरोना गाईड लाईन के अनुसार एवं साथ ही अभिभाषकगण की आर्थिक स्थिति को मद्देनजर रखते हुए पूर्ण रूप से संचालित करवाय जाना आवश्यक है।
समस्त अभिभाषकों ने मांग की कि उपरोक्त समस्याओं पर विचार कर न्यायालयीन कार्य को सुचारू रूप से संचाति किये जाने हेतु आदेश प्रदान किया जाना चाहिए। ज्ञापन प्रेषित करते समय अभिभाषक संघ अध्यक्ष विनोद रघुवंशी, उपाध्यक्ष अब्दुल पठान, अभिभाषक कांतिलाल शर्मा, जगतसिंह तिरवार, इंद्रजीतसिंह चैहान, रमेशचन्द्र चंदेल, विजय वर्मा, जितेंद्र कुशवाह, ओम मेतवासा, नाहरू खान, सुनील शर्मा, जफर उस्मानी आदि अभिभाषक संघ के अधिवक्तागण मौजूद थे। ज्ञापन का वाचन उपाध्यक्ष श्री पठान ने किया।

 

यह भी पढें …

विधायक गुर्जर के नेतृत्व में ठेका श्रमिकों को कार्य पर रखने की मांग को लेकर ऐतिहासिक रूप से स्वेच्छिक बंद रहा नागदा शहर

Leave a Reply

%d bloggers like this: