Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

15 साल की नाबालिग ने दुष्कर्म के बाद बेटे को जन्म दिया था।

लड़की के साथ 17 साल के किशोर ने रेप किया था।

नाबालिग मां ने अपने ही बेटे की हत्या करना स्वीकार कर लिया।

आरोपी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज ।

दमोह के तेंदूखेड़ा क्षेत्र में दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। यहां एक नाबालिग मां ने अपने 40 दिन के बच्चे को रस्सी से गला घोंटकर मार डाला। बच्चे की हत्या करने के बाद उसे अस्पताल भी ले गई। पुलिस को संदेह हुआ तो बच्चे का पोस्टमॉर्टम कराया गया। रिपोर्ट में पता चला कि बच्चे की मौत गला दबाने से हुई है। पुलिस ने मां ने पूछताछ की तो उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया, जिसके बाद उसे बुधवार को बाल सुधार गृह भेज दिया गया। 15 साल की नाबालिग ने दुष्कर्म के बाद बेटे को जन्म दिया था।

इसे भी पढ़े : ट्रक को ओवरटेक करने की चक्कर में बाइक सवार युवक की मौत, आधे घंटे पहिये में फंसा रहा

17 साल के आरोपी ने किया था दुष्कर्म

जानकारी के अनुसार, नाबालिग लड़की के साथ 17 साल के किशोर ने रेप किया था। दोनों एक ही गांव के रहने वाले हैं। कुछ साल पहले दोनों एक-दूसरे के प्रेम में पड़ गए। कुछ दिनों में मुलाकात होने लगी। इसी दौरान किशोर ने दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। मामला उस समय उजागर हुआ जब किशोरी गर्भवती हो गई। परिजनों ने आरोपी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज करवा दिया।

पूरा घटनाक्रम

तेंदूखेड़ा SDOP अशोक चौरसिया के अनुसार, जनवरी 2021 को 15 साल की किशोरी के साथ एक किशोर ने दुष्कर्म किया था। अगस्त में परिजनों को पता चला कि उनकी बेटी गर्भवती हो गई है।

इसके बाद पुलिस में रिपोर्ट दर्ज की गई। आरोपी को गिरफ्तार कर बाल सुधार गृह भेज दिया गया। 16 अक्टूबर 2021 को किशोरी ने जिला अस्पताल में शिशु को जन्म दिया। यहां पर 22 दिन तक शिशु और किशोरी भर्ती रहे। स्वास्थ्य ठीक होने के बाद वह अपने गांव चली गई।

इसे भी पढ़े : अनियंत्रित होकर खाई में गिरा 407 वाहन

10 नवंबर की रात नाबालिग मां अपने शिशु को लेकर तेंदूखेड़ा अस्पताल पहुंची। परीक्षण किया गया तो पता चला कि शिशु की मौत हो चुकी है। पुलिस को संदेह हुआ तो पुलिस ने शिशु का पीएम करवाया, जिसके बाद यह पता चला कि शिशु की मौत रस्सी से गला घोंटने के कारण हुई है।

इस मामले में पूछताछ की गई तो नाबालिग मां ने अपने ही बेटे की हत्या करना स्वीकार कर लिया। इसके बाद पुलिस ने धारा 302 के तहत उसके खिलाफ मामला दर्ज किया और उसे किशोर न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे महिला सुधार गृह भेज दिया गया है।

Leave a Reply