Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

गया। पावन शरद पूर्णिमा के अवसर पर बुधवार को अंतःसलिला फल्गु नदी के देवघाट पर चंद्रमा की किरणों से गिर रही अमृत की बूंदों के बीच फल्गु महाआरती का आयोजन किया गया।श्री फल्गु सेवा समिति की ओर से वाराणसी में आयोजित होने वाली गंगा आरती के तर्ज पर पांच निपुण गयापाल ब्राह्मणों द्वारा कलात्मक ढंग से फल्गु पूजन एवं वैदिक मंत्रोच्चारण एवं शंख ध्वनि के बीच भगवान विष्णु एवं गदाधर जी का आह्वान करते हुए फल्गु महाआरती की गई ।

महाआरती जैसे ही प्रारम्भ हुई उपस्थित जन समूह ने स्वर से स्वर मिला कर एवं करतल ध्वनि से साथ दिया। फल्गु महाआरती से देवघाट का परिसर गुंजायमान हुआ। इसको लेकर देवघाट को रंगीन बल्बों एवं फूलों से आकर्षक ढंग से सजाया संवारा गया था।समिति के मीडिया प्रभारी छोटू बारिक ने बताया कि आश्विन पूर्णिमा सभी माह की पूर्णिमा से सर्वश्रेष्ठ है। इस दिन चंद्रमा से अमृत की वर्षा होती है। इसी उपलक्ष्य पर पूरे श्रद्धा के साथ फल्गु जी की आरती की गई। बीते दिनों पितृपक्ष में भी प्रतिदिन संध्या बेला में फल्गु महाआरती का आयोजन किया गया था।

इसे भी पढ़े : बच्ची को बनाया हैवान ने अपनी हवस का शिकार

इधर प्रतिज्ञा संस्था की ओर से फल्गु नदी के पूर्वी तट पर नागकूट पहाड़ी की तलहटी में स्थित सीता कुंड में फल्गु जी की महाआरती पूरे विधि विधान से की गई। इस अवसर पर बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों ने हिस्सा लिया। फल्गु नदी के दोनों छोर पर फल्गु आरती होने से नदी का दृश्य मनभावन लग रहा था।

Leave a Reply