Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

उज्जैन। नगर के गौरव एवं ऐतिहासिक माधव वाणिज्य एवं कला महाविद्यालय को भारतीय जनता पार्टी की सरकार के मंत्री और विधायक एक साजिश के तहत देवास गेट जैसे नगर के मुख्य स्थल से स्थानांतरित करने में लगे हुए हैं ताकि निजी महाविद्यालयों को फायदा पहुंचाया जा सके अभी तक जिले एवं आसपास के अन्य जिलों के विद्यार्थियों को भी माधव कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय के जरिए सस्ती सुलभ शिक्षा प्राप्त होती थी इस कारण से नगर के अन्य निजी महाविद्यालयों में पर्याप्त एडमिशन नहीं हो पाते थे इन्हीं सब स्थितियों को देखते हुए भाजपा सरकार ने अब षड्यंत्र रच कर यह कालेज नगर से 5 किलोमीटर दूर नए भवन में स्थानांतरित करने का बाले बाले निर्णय कर लिया जो नगर जिले के ग्रामीण अंचलों तथा जिले के आसपास के अन्य जिलों के विद्यार्थियों के साथ खुला अन्याय हैं।

इसे भी पढ़ें ; फिर नहाने के दौरान हुआ हादसा, नाबालिग सहित दो की मौत


उक्त बात मध्यप्रदेश कांग्रेस सेवादल के अरुण वर्मा ने कही। अरूण वर्मा ने कहा कि इसके पीछे विद्यार्थियों को निजी महाविद्यालयों में एडमिशन लेने के लिए मजबूर करना है क्योंकि यह बात साफ है कि रेल बस के जरिए अप डाउन करने वाले विद्यार्थी माधव कॉलेज में आकर सहजता सरलता से और सुविधा पूर्वक अध्ययन करते थे यह सब कुछ भाजपा के नेताओं को इसलिए भी नहीं ठीक लग रहा था कि समीप ही रेलवे स्टेशन के दूसरे छोर पर स्थित निजी लोटी महाविद्यालय को पर्याप्त संख्या में एडमिशन माधव कॉलेज के संचालित होने पर नहीं मिल पा रहे थे इसके अलावा अन्य निजी महाविद्यालयों को भी फायदा पहुंचाने के लिए शासकीय माधव कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय को नगर से 5 किलोमीटर दूर स्थानांतरित करने का भारतीय जनता पार्टी ने फैसला किया है जिसका हम विरोध कर रहे हैं माधव कॉलेज मैं अध्ययन करके देश भर में विद्यार्थियों ने नाम कमाया है उसी 128 वर्ष पुराने महाविद्यालय को यहां से स्थानांतरित करके भाजपा राजनीतिक खेल खेल रही है क्या उज्जैन की जनता ने इसीलिए इन्हें वोट दिए थे…?

                          ’’खेल मैदान से खिलाड़ियों को भी अलग करने का षड्यंत्र…..

माधव कॉलेज के खेल मैदान पर क्रिकेट खो-खो कबड्डी बास्केटबॉल जैसे खेल के लिए प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में विद्यार्थी और खिलाड़ी आते हैं यदि यहां बालिका महाविद्यालय स्थानांतरित कर दिया गया तो खिलाड़ियों को बालिका सुरक्षा के मद्देनजर महाविद्यालय में आने से प्रतिबंधित कर दिया जाएगा यह भाजपा सरकार की एक सोची समझी साजिश है कि खिलाड़ियों को भी खेल मैदानों से वंचित करके निजी संस्थानों को फायदा पहुंचाया जाए चुकी माधव महाविद्यालय में बालक एवं बालिका शिक्षा की व्यवस्था है तो फिर प्रथक से बालिका महाविद्यालय के नाम पर शासकीय माधव कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय को यहां से स्थानांतरित करने का मनमाना निर्णय क्यों ..?      

    ’’’बालिका शिक्षा की इतनी चिंता थी तो शासकीय मिल की जमीन, सामाजिक न्याय केंद्र की जमीन और नगर निगम की जमीन पर बनवा देते नया भवन…

भाजपा सरकार माधव कॉलेज मैं अध्ययन के लिए आने वाले निर्धन मध्यम वर्ग के होनहार विद्यार्थियों पर कुठाराघात करने के लिए इस तरह के निर्णय ले रही है कि उन्हें अप डाउन के साथ-साथ परेशानी उठाकर देवास गेट से 5 किलोमीटर दूर पैदल या फिर अन्य निजी वाहनों के जरिए कॉलेज जाना पड़े अन्यथा निजी महाविद्यालय में प्रवेश लेने को मजबूर होना पड़ेस यदि भाजपा को बालिका शिक्षा की इतनी ही चिंता थी तो नगर से 5 किलोमीटर दूर यह भवन क्यों बनवाया और इसके स्थान पर चामुंडा माता चौराहे पर ही मिल की जमीन सामाजिक न्याय केंद्र की जमीन तथा नगर निगम स्थित नजर अली मिल कंपाउंड की जमीन पर कॉलेज भवन बनाने का फैसला क्यों नहीं लिया गयास इसलिए भी ऐतिहासिक माधव कॉलेज में पढ़ने वाले आने वाले निर्धन होनहार और मध्यम वर्ग के विद्यार्थियों पर कुठाराघात करने के भाजपा के षडयंत्र की बू आती है..?      

  ’’पूरा दोष भाजपा का और दंड मिल रहा निर्धन होनहार और मध्यम वर्ग के छात्रों को ……….

बालिका शिक्षा के नाम पर माधव कॉलेज भवन देवास गेट से माधव कला एवं वाणिज्य विद्यालय को 5 किलोमीटर दूर स्थानांतरित करने के पीछे पूरी तरह भाजपा का षड्यंत्र तो है ही इसके साथ यह भी जानना जरूरी है कि जब नजर से 5 किलोमीटर दूर बन रहे भवन में बालिका शिक्षा के लिए पर्याप्त सुरक्षा वाला स्थान नहीं था तो फिर वहां भवन कैसे बन गया और करोड़ों रुपए खर्च कैसे कर दिए गए भाजपा की अदूरदर्शी नीति के कारण बालिकाएं वर्षों तक कालिदास कन्या महाविद्यालय में टूटे  जर्जर भवन में पढ़ने को मजबूर होती रही और जब नए महाविद्यालय भवन की परिकल्पना की जा रही थी तो  अधिकारियों ने भाजपा नेताओं के इशारे पर 5 किलोमीटर दूर भवन बनवाया ताकि बालिकाएं महा पढ़ने जाने में खुद को असुरक्षित महसूस करें प्रदेश में भाजपा का 15 वर्षों तक राज रहा और फिर से धन बल के आधार पर काग्रेस सरकार को गिरा कर खरीद-फरोख्त की सरकार बनाने के बाद माधव कॉलेज को स्थानांतरित करने का मनमाना फैसला विद्यार्थियों पर कुठाराघात है….?  

        ’’ विगत 15 वर्षों में बालिका शिक्षा के लिए सुरक्षित स्थान पर नया भवन भी ना बनवा पाने भाजपा विकास का  थोथा दावा करती है…..

       हम बालिका शिक्षा के लिए सुरक्षित स्थान के विरोध ही नहीं है लेकिन हमारा मुख्य विरोध यह है कि भाजपा नेताओं की अवहेलना बालिका शिक्षा के लिए सुरक्षित भवन ना बनाने के प्रति जारी रही बालिका शिक्षा के लिए सुरक्षित स्थान के नाम पर माधव कॉलेज को खाली कराया जा रहा है यदि बालिका शिक्षा की इतनी ही चिंता है तो लोटी स्कूल की जमीन का अधिग्रहण करके सरकार बालिका शिक्षा के लिए शासकीय महाविद्यालय की स्थापना कर सकती है या फिर महाकाल के समीप भारत माता मंदिर का अधिग्रहण कर के शासकीय कालेज की स्थापना की जा सकती है या फिर गोपाल मंदिर पर नगर निगम के पुराने भवन की जमीन बालिका शिक्षा महाविद्यालय के लिए नया भवन बनाया जा सकता है जो नगर के मध्य में है इसके अलावा मिलो की शासकीय जमीन सामाजिक न्याय केंद्र आगर रोड की जमीन नगर निगम के नजर अली मिल की जमीन का विकल्प अभी है लेकिन भाजपा की इच्छा शक्ति ही नहीं है कि बालिका महाविद्यालय के लिए सुविधा युक्त और सुरक्षित भवन बनवाएं।

Leave a Reply