Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644
बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों को साथ लानी होगी अपनी वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट

गया। गयाजी मे एक पखवाड़े तक चलने वाले पितृपक्ष 19 सितंबर से शुरू हो रहा है, जो 6 अक्टूबर तक चलेगा। गयापाल पंडा समाज का दावा है कि कोविड नियमों का पालन कराते हुए मेले का आयोजन सुचारू रूप से सुनिश्चित कराया जाएगा। क्योंकि मेले में न सिर्फ अपने देश बल्कि विदेशों से भी आस्थावान पितृ मुक्ति की कामना को लेकर पहुंचते हैं।

इसे भी पढ़े : अफीम और डोडा की तस्करी करने वाला अंतरराज्यीय गिरोह चढ़ा पुलिस के हत्थे

यह बातें आयोजित प्रेस वार्ता में श्री विष्णुपद प्रबंधकारिणी समिति से जुड़े सदस्यों ने कही। समिति के सदस्य महेश लाल गुप्त ने कहा कि पितृपक्ष में समिति द्वारा तीर्थयात्रियों की सुविधा हेतु तैयारियां भी युद्ध स्तर पर शुरू हो चुकी है, जिससे कि कहीं कोई दिक्कत ना पैदा हो़।

उन्होंने कहा कि इस बार कोविड-19 के बढ़ते प्रसार को देखते हुए तीर्थयात्रियों के लिए कोविड-19 नियमों का पालन करना जरूरी होगा। कोविड-19 की गाइड लाइन के अनुसार मास्क पहनकर,सैनिटाइजर वं सामाजिक दूरी का पालन करते हुए गयापाल पुरोहित और ब्राम्हण अपने तीर्थयात्रियों को कर्मकांड,तर्पण और पिंडदान संपन्न कराएंगे। उन्होंने समस्त शहरवासियों से पितृपक्ष में आए तीर्थयात्रियों को “अतिथि देवोभवः” के तर्ज पर पितृपक्ष को सफल बनाने की अपील की है।

इसे भी पढ़े : पत्नी की पीट-पीट कर की हत्या, फिर पेट्रोल से जलाया

अमरनाथ धोपड़ी ने बताया कि बिहार समेत अन्य राज्यों से आने वाले तीर्थ यात्रियों को अपनी कोविड नेगेटिव रिपोर्ट के साथ वैक्सीनेशन के सर्टिफिकेट लानी होगी। जिन लोगों को दोनों डोज का वैक्सीनेशन लग चुकी है।उन्हें ही कर्मकांड कराने की अनुमति दी जाएगी। प्रेस वार्ता में समिति के कार्यकारी अध्यक्ष शंभू लाल विट्ठल राजेंद्र लाल सिजवार,अमरनाथ धोकड़ी, शिवलाल भैया,गजाधर लाल पाठक सहित कई अन्य लोग उपस्थित थे। बताते चलें कि राज्य सरकार द्वारा लगातार दूसरे वर्ष भी कोरोना के कारण राजकीय पितृपक्ष मेला- 2021 का आयोजन नहीं किया जा रहा है। लेकिन राज सरकार ने एसओपी का पालन करते हुए गया श्राद्ध और कर्मकांड करने की अनुमति दी है।

Leave a Reply