Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

Live Radio

सुपारी देकर गाड़ी से कुचलवाया, 9 महीने बाद दोनों हत्यारोपी गिरफ्तार

उज्जैन। सुपारी लेकर युवती की हत्या करने के दो आरोपी 9 महीने बाद पकड़े गए। दोनों को क्राइम ब्रांच इंदौर ने गिरफ्तार किया है। युवती की हत्या उज्जैन के ढाबा संचालक ने एक लाख की सुपारी देकर कराई थी। आरोपियों ने युवती को मैजिक गाड़ी से कुचलकर मार डाला था। वारदात के बाद से दोनों इंदौर में रहकर फरारी काट रहे थे। उज्जैन पुलिस ने इन पर 5-5 हजार का इनाम भी घोषित कर रखा था। आरोपियों को आगे की पूछताछ के लिए क्राइम ब्रांच ने उज्जैन पुलिस को सौंप दिया है। ढाबा संचालक पर युवती पत्नी को तलाक देकर उससे शादी करने के लिए दबाव बना रही थी।

आदतन अपराधी हैं

दोनोंक्राइम ब्रांच इंदौर ने गांधीनगर क्षेत्र से पंकज उर्फ पवन उर्फ भोला शर्मा और संजय उर्फ संजू बंगर को गिरफ्तार किया है। आरोपी पंकज के खिलाफ डकैती की योजना, हत्या, गंभीर मारपीट, आबकारी अधिनियम, आर्म्स एक्ट सहित 8 से ज्यादा केस दर्ज हैं। आरोपी संजय के खिलाफ भी हत्या का प्रयास, आर्म्स एक्ट और डकैती की योजना के 3 मामले दर्ज हैं।घटना 15 नवंबर 2019 की है। भागीरथपुरा की रहने वाली युवती की चिंतामन बायपास पर मैजिक से टक्कर होने से मौत हो गई थी। युवती ने ढाबा संचालक सुखविंदर सिंह खनूजा पर रेप का भी आरोप लगाया था। हालांकि, सुखविंदर इस केस में बरी हो गया था। इसके बाद युवती उस पर शादी का दबाव डाल रही थी। इस वजह से सुखविंदर ने युवती की हत्या की साजिश रची।घटना से 20 दिन पहले आरोपी उसके ढाबे पर बैठकर शराब पी रहे थे। उसने उनसे बात की और 20 हजार रुपए एडवांस दिए। 15 नवंबर को खनूजा ने युवती को बात करने के लिए ढाबे पर आने का कहा। प्लानिंग के तहत ढाबे से 100 मीटर की दूरी पर वाहिद, भोला और समीर मैजिक गाड़ी लेकर खड़े थे। कुछ ही दूरी पर संजय और उमा रैकी के लिए बाइक से खड़े थे।जैसे ही युवती ऑटो से उतरी, उमा के इशारा करते ही वाहिद ने मैजिक गाड़ी दौड़ा दी। मैजिक ड्राइवर युवती को कुचलते हुए निकल गया। दिखावे के लिए खनूजा युवती को अस्पताल लेकर पहुंचा। टक्कर के बाद फुटेज में मैजिक इंदौर की दिखी तो पुलिस ने शंका के आधार पर मामले की जांच शुरू की और पूरा खुलासा हो गया। इसके बाद पुलिस ने ड्राइवर वाहिद और खनूजा को तत्काल गिरफ्तार कर लिया था।

बाकी के आरोपी फरार हो गए थे।दो दिन बाद 80 हजार रुपए लेने उमा उज्जैन पहुंची थीहत्या के बाद आरोपी बाणगंगा रोड पर एक ढाबे में रुके और पार्टी की थी। दो दिन बाद खनूजा से बचे हुए 80 हजार रुपए लेने उसके ढाबे पर उज्जैन पहुंची और कहा कि टेंशन मत लेना। कुछ दिन बाद मामले को हादसा समझकर सब भूल जाएंगे।

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply