Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644
पीडि़त परिवार ने कलेक्टर से लगाई न्याय की गुहार

शाजापुर। नसबंदी के तहत मिली शासकीय भूमि पर बीते 45 वर्षों से खेती कर अपने परिवार का भरण-पोषण कर रहे दलित परिवार पर बेरोजगारी का संकट मंडराने लगा है, क्योंकि उक्त कृषि भूमि से दलित परिवार को बेदखल करने का आदेश देते हुए अब पुलिस प्रशासन चौकी बनाने की तैयारी कर रहा है।

इसे भी पढ़े : मंडी एक्ट के विरोध में आज से बंद रहेगी मंडी, अनिश्चितकाल के लिए हड़ताल पर रहेंगे कर्मचारी

पुलिस चौकी के निर्माण कार्य को लेकर दलित परिवार ने अखिल भारतीय बलाई महासभा के अध्यक्ष राधेश्याम मालवीय के साथ बुधवार को कलेक्टर कार्यालय पहुुंचकर न्याय की गुहार लगाई है। समाज के अध्यक्ष के साथ कलेक्टर कार्यालय पहुंची ग्राम दुपाड़ा निवासी 65 वर्षीय वृद्ध कमलाबाई, ओमप्रकाश, देवबाई, संतोषबाई, रवि फुलेरिया, रोहित फुलेरिया ने आवेदन सौंपकर बताया कि वर्ष 1975 में नसबंदी के तहत प्रशासन द्वारा उनके पुर्वज स्वर्गीय दयाराम को पांच बीघा भूमि कृषि हेतु दी गई थी, जिसके बाद से उक्त भूमि पर खेती कर उनके परिवार के लोग अपना भरण-पोषण कर रहे हैं, लेकिन वर्तमान में दुपाड़ा पुलिस द्वारा कृषि भूमि पर चौकी निर्माण के लिए गढ्डों की खुदाई की गई है और विरोध करने पर पुलिस परिवार के लोगों को झूठे प्रकरण में फंसाने की धौंस दे रही है।

दलित परिवार ने बताया कि वे भूमि का विगत 45 वर्षों से प्रशासन को अर्थदंड भी जमा कर रहे हैं, बावजूद इसके उन्हे आर्थिक संकट में डालने की तैयारी की जा रही है। जिला प्रशासन से पीडि़त परिवार ने न्याय की गुहार लगाते हुए कहा है कि वे भूमि पर हो रहे पुलिस चौकी के निर्माण को रोके, ताकि परिवार भूखमरी से बच सके। वहीं महासभा के अध्यक्ष मालवीय ने प्रशासन से मांग की है कि दलित परिवार के लोगों को कृषि भूमि से बेदखल करने की बजाय समस्या का हल निकाला जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *