Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

शाजापुर। मध्यप्रदेश शासन ने भले ही बसों के संचालन के आदेश जारी कर दिए हों लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते विगत 5 माह से थमे पड़े बसों के पहिए अभी और भी थमे रहने वाले हैं, क्योंकि बस संचालकों का कहना है कि सरकार ने मौखिक रूप से बसों के संचालन की बात कही है। जब तक शासन मांगों को स्वीकार करते हुए लिखित आदेश जारी नही करता तब तक बसों का संचालन नही किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि कोरोना महामारी के चलते मार्च माह से प्रदेशभर में यात्री बसों का संचालन पूरी तरह से बंद पड़ा हुआ है। वहीं गतदिनों मध्यप्रदेश सरकार द्वारा मौखिक रूप से बसों के संचालन की बात कही गई है, परंतु बस ऑपरेटर अब भी बसों को चलाने को तैयार नही हैं। बस संचालक आशीष नागर ने बताया कि मप्र सरकार ने बसों की सेवाओं के संचालन को लेकर हरी झंडी दे दी है, किंतु सरकार ने अभी तक बसों के पांच महीनों के टैक्स माफी करने के लिखित आदेश जारी नही किए हैं और परिवहन के पोर्टल में बसों के बकाया टैक्स की जानकारी आ रही है। जब तक शासन से कोई लिखित में आदेश जारी नही हो जाता है, तब शाजापुर के कोई भी बस संचालक अपनी बसे नही चलाएंगे। नागर ने बताया कि बस संचालकों को सरकार की शर्ते मंजूर हैं और इसीके चलते वे बसों को पूरी तरह सेनिटाइज भी करेंगे और सोशल डिस्टेंस का भी ध्यान रखेंगे, लेकिन टैक्स माफी का लिखित आदेश मिलने के बाद ही यह सब किया जाएगा।

थमे रहेंगे बसों के पहिए

गौरतलब है कि अनलॉक के दौरान पूरे प्रदेश के बाजार नियमित रूप से खुलने लगे हैं और लोगों का कारोबार भी शुरू हो चुका है, लेकिन बसों का संचालन बंद होने से अब भी लोगों को भारी कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। इंदौर, उज्जैन, देवास सहित अन्य जिलों में आना-जाना करने वाले लोग निजी वाहन किराए पर लेकर मोटी रकम अदा करने के बाद गंतव्य तक पहुंचने को मजबूर हैं। वहीं सरकार ने भी बसों के संचालन के लिए औपचारिकता निभाते हुए मौखिक रूप से आश्वासन दिया है। ऐसे में सरकार के इस फैसले को बस संचालक महज घोषणा मानते हुए बस चलाने को तैयार नही हैं। बस संचालकों का कहना है कि फिलहाल बसों के पहिएं अभी और दिन थमे रहेंग

Leave a Reply