Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644
जीएसटी कार्यालय में पदस्थ महिला ने आरक्षक के ऊपर दबाव बनाया विवाह के लिए

उज्जैन। एक महिला से परेशान होकर आरक्षक ने जहर खाकर जान देने की कोशिश की है फिलहाल आरक्षक निजी अस्पताल में भर्ती है इस मामले में ट्रैवल एजेंसी का संचालक का नाम भी सामने आ रहा है जिसने महिला के साथ मिलकर आरक्षक को ब्लैकमेल करने का प्रयास किया इतना ही नहीं जीएसटी कार्यालय में पदस्थ महिला ने आरक्षक के ऊपर दबाव बनाते हुए विवाह का प्रस्ताव भी रखा था लेकिन आरक्षक ने मना कर दिया ।

आरक्षक ने शादी करने से मना कर दिया

आरक्षक निजी अस्पताल में भर्ती है इस मामले में ट्रैवल एजेंसी का संचालक का नाम भी सामने आ रहा है जिसने महिला के साथ मिलकर आरक्षक को ब्लैकमेल करने का प्रयास किया इतना ही नहीं जीएसटी कार्यालय में पदस्थ महिला ने आरक्षक के ऊपर दबाव बनाते हुए विवाह का प्रस्ताव भी रखा था लेकिन आरक्षक ने मना कर दिया ।

दोस्ती के पीछे भयानक चेहरा न दिखा

नानाखेड़ा इंदौर रोड़ स्थित प्राइवेट ट्रेवल एजेंसी का संचालन करने वाले हाकम पटेल उर्फ राजू आरक्षक सुनील चौधरी के मित्र थे चूंकि आरक्षक पूर्व में नानाखेड़ा थाने में पदस्थ था जहाँ उसकी ट्रेवल संचालक पटेल से मित्रता हो गयी थी मित्रता के जाल में आरक्षक पूरी तरह फस चुका था पटेल की बातों पर विश्वास करने लगा था तभी हाकम पटेल ने अपनी परिचित महिला चंद्रलता सिसोदिया से दोस्ती करवा दी ओर बताया कि चंद्रलता इंदौर जिले के उत्पादन शुल्क आरएनटी मार्ग चेतक चेम्बर में अपील शाखा में पदस्थ है। फिर कई बार चंद्रलता आरक्षक सुनील से मिलने लगी व मोबाइल पर मैसेज आदि करने लगी। चंद्रलता सुनील को अपने घर वृन्दावन धाम पर खाना खाने के लिये भी बुलवा चुकी थी लेकिन सुनील को उसकी दोस्ती के पीछे का भयानक चेहरा नहीं दिखा।

मोटी रकम ऐंठने के बाद भी मन नहीं भरा

चंद्रलता द्वारा कहा गया कि मुझसे शादी कर लो और अपनी पत्नी को तलाक दे दो। चंद्रलता शादीशुदा महिला होकर पति महेश गोस्वामी के साथ  वर्षों रहने के बाद धोखाधड़ी कर छोड़ दिया गया। जब आरक्षक सुनील से चंद्रलता ने शादी की बात कही तो इस बात पर सुनील ने उसे साफ मना कर दिया और कहा कि तुम सिर्फ मेरी अच्छी दोस्त हो लेकिन महिला के मन मे तो कुछ और ही था उसके बाद से सुनील कुछ दिनों तक चंद्रलता से नहीं मिला तब चंद्रलता और साथी पटेल ने मिलकर सुनील को झूंठे प्रकरण में फसा देने की धमकी देने लगे और पैसों की डिमांड कर ब्लैकमेल करने लगे। जिसके चलते आरक्षक सुनील ने महिला चंद्रलता के बैंक खाते में पैसे भी ट्रांसफर किये। ब्लैकमेल कर लाखों रुपये एठने के बाद भी चंद्रलता और हाकम पटेल का पेट नहीं भराया और इस बार दोनों ने मिलकर एक मोटी रकम सुनील से मांगी।

बीवी को तलाक दे करके वह महिला ने शादी करने का दबाव बनाया

अब सुनील पूरी तरह से मानसिक तनाव में डूब चुका था तब आरक्षक ने अपने पुलिस विभाग में उक्त घटना की जानकारी दी और बीते गुरुवार को महिला चंद्रलता के विरुद्ध ब्लैकमेल करने की एफआईआर संबंधित थाने में दर्ज करावा दी। एफआईआर की सूचना मिलते ही चंद्रलता ओर साथी हाकम पटेल आरक्षक सुनील चौधरी के घर पहुंच गए जहाँ परिजनों ने बताया कि सुनील अभी घर पर नही आये है तब चंद्रलता और हाकम में पूरे घर की तलाशी ली लेकिन सुनील कही नहीं दिखा। तब चंद्रलता और हाकम पटेल ने परिजनों से कहा कि आज के आज जो रकम मांगी है वह देते या आत्महत्या कर ले। लेकिन आरक्षक सुनील तो पहले ही मौत को गले लगाने की ठान चुका था और जहर पी चुका था।

धोखाधड़ी व कई अन्य प्रकरणों के तहत मामला दर्ज

महिला आरोपी श्रीमती चंद्रलता पिता अमर सिंह सिसोदिया पर वेद नगर के फरियादी वैभव पिता सुभाष येवलेकर ने पांच लाख की धोखाधड़ी का प्रकरण नानाखेड़ा थाने में दर्ज करवाया था जिसका अपराध क्रमांक 405/25-06-2019 धारा 420, 406 है।

Leave a Reply