Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

महाकाल मंदिर क्षेत्र को चौड़ा करने के लिए प्रशासन पूरी तरह जुटा

उज्जैन। धार्मिक नगरी उज्जैन में स्मार्ट सिटी और महाकाल मंदिर क्षेत्र को चौड़ा करने के लिए प्रशासन पूरी तरह जुटा हुआ है 2 दिनों से भाजपा का भाषा ज्ञान चल रहा है इसे खत्म होते ही पूरा प्रशासन गरीबों के आशियानो पर तोड़फोड़ करने में जुड़ जाएगा हालांकि प्रशासन  कह रहा है कि महाकाल मंदिर क्षेत्र को चौड़ा किया जाना है!

इसका विस्तारीकरण भी किया जाना है लिहाजा बेगम बाग और बेगम बाग से बेगम बाग से सटी हुई झुग्गी बस्तियों को भी खाली करने के नोटिस दिए गए हैं जब तक इनके लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं होती है तब तक इन लोगों को तीन हजार  महीना किराया स्वरूप दिया जाएगा ।

इसे भी पढ़े : BJP के 3 कार्यकर्ताओं की हत्या करने वाला संदिग्‍ध आतंकी जहूर अहमद गिरफ्तार

अब यहां पर सवाल जा खड़ा होता है कि कुछ क्षेत्रों को प्रशासन मुआवजा देने के लिए तैयार हो गया है और कुछ क्षेत्रों को भेदभाव नीति अपनाते हुए जबरदस्ती करने में जुटा हुआ है बेगम बाग और उसके आसपास के क्षेत्र में झुग्गी बस्तियों में अधिकांश लोग मजदूर वर्ग के ही निवास करते हैं और यहां पर कई वर्षों से रह रहे हैं!

इन लोगों का भरण पोषण भी पुराने शहर से होता है क्योंकि इन लोगों को मजदूरी भी पुराने शहर में ही आसानी से मिल जाती है ऐसे में जब इन लोगों को बेघर कर दिया जाएगा तो यह लोग कहां पर जाएंगे इसके लिए अभी तक कोई भी ठोस योजना नहीं बनाई गई है ।

सूत्रों का कहना है कि इन लोगों को विक्रम नगर के पास मल्टी बनाकर दी जाएगी लेकिन यह कब तक तैयार होगी इसका जवाब को भी जिम्मेदार देने के लिए तैयार नहीं है वहीं दूसरी ओर देखा जाए तो कुछ लोगों के लिए मुआवजा देने की बात प्रशासन कर रहा है!

इसे भी पढ़े : तमिलनाडु पटाखा फैक्ट्री हुआ हादसा, PM ने जताया दुख, मुआवजे का ऐलान

यदि गरीब मजदूरों को भी मुआवजा दिया जाए तो पुराने शहर में कहीं भी मकान लेकर रह सकते हैं फिलहाल इन मजदूरों को तीन हजार  महीना देने की योजना बनाई गई है!

जबकि कोरोना काल के चलते कोई भी किराए से मकान देने को तैयार नहीं है अब यह तो इन लोगों को टेंट में रहना पड़ेगा या फिर खुले आसमान के नीचे दिन और रात निकालना पड़ेगी प्रशासन इस संबंध में भी गंभीरता से विचार करें।

Leave a Reply