Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों से किसानों को बड़ी राहत मिलने जा रही है. स्कूटर, कार और बस के बाद अब सीएनजी फिटेड ट्रैक्टर भी सड़कों और खेतों में चलते दिखेंगे.

केंद्रीय सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी कल शाम 5 बजे देश का पहला सीएनजी फिटेड ट्रैक्टर को लांच करेंगे. इस मौके पर पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, सड़क परिवहन और राजमार्ग राज्यमंत्री वीके सिंह और राज्यमंत्री पुरूषोत्तम रुपाला भी मौजूद रहेंगे.

इसे भी पढ़े : गैंगरेप के आरोपी दो लोगों को बीस बीस साल कैद—

रावमेट टेक्नो सॉल्यूशन्स और टोमेसेटो अचीले इंडिया द्वारा ट्रैक्टर का सीएनजी कन्वर्जन किए जाने से किसानों को सीधा फायदा मिलेगा. उम्मीद की जा रही है कि सीएनजी ट्रैक्टर के आने से किसानों की आय बढ़ाने में भी मदद मिलेगी.

जैसा कि सभी जानते है कि सीएनजी एक स्वच्छ ईंधन हैं, जिससे कार्बन और अन्य दूसरे प्रदूषित कण बहुत कम उत्सर्जित होते है. नए तकनीक से कन्वर्ज किए गए सीएनजी इंजन का लाइफ पारंपरिक ट्रैक्टरों से अधिक होगी.

डीजल की तुलना में सीएनजी ट्रैक्टरों की माइलेज काफी अधिक होगा. यहीं नहीं पेट्रोल-डीजल की कीमतें प्रतिदिन ऊपर-नीचे होती हैं जबकि तुलनात्मक रुप से सीएनजी के दामों में उतार चढ़ाव काफी कम होता है.

इसे भी पढ़े : ट्विटर ने नहीं माना सरकार का आदेश तो गिरफ्तार किए जा सकते हैं टॉप अधिकारी

पेट्रोल या डीजल की तुलना में सीएनजी काफी सस्ती होती है. सीएनजी टैंक टाइट से सील होने की वजह से रिफ्यूलिंग के वक्त विस्फोट की गुंजाइश काफी कम हो जाती है. वेस्ट टू वेल्थ यानि कचरा से मूल्यवान चीजों को बनाने का विकल्प को और बल मिलता है.

पराली का इस्तेमाल बायो सीएनजी बनाने में किया जा सकता है, जिससे किसान अपनी आमदनी तो बढ़ा ही सकता है साथ ही पराली जलाने से होने वाले प्रदूषण को भी कम करने में मदद मिलेगी.

Leave a Reply