Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

शिक्षा विभाग के अधिकारी विद्यालयों का जायजा भी लेंगे।

अंबेडकरनगर। लगभग 10 माह बाद दो हजार से अधिक उच्च प्राथमिक विद्यालय आज से फिर गुलजार होंगे। मोबाइल नेटवर्क व अन्य समस्याओं के चलते ठीक से ऑनलाइन पढ़ाई न कर पाने वाले छात्र-छात्राओं को बुधवार से फिर कक्षाओं में शिक्षा मिलनी शुरू हो जाएगी। निजी विद्यालय प्रबंधनों से लेकर परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों ने स्कूल में कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों की पढ़ाई शुरू करने को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं।

स्कूलों में साफ-सफाई के साथ ही कक्षाओं को सैनिटाइज किया गया है। विद्यालय जाने को लेकर बच्चों में सर्वाधिक उत्साह देखने को मिला। ड्रेस से लेकर कॉपी किताबों के रखरखाव में ही मंगलवार का पूरा दिन बीता। बुधवार को सुबह नौ बजे से अपराह्न तीन बजे तक कक्षाओं का संचालन बेहतर ढंग से कराने के लिए शिक्षा विभाग के अधिकारी विद्यालयों का जायजा भी लेंगे।


कोरोना संक्रमण को देखते हुए 15 मार्च 2020 से सभी प्रकार के विद्यालयों को बंद कर दिया गया था। कोरोना संक्रमण कम होने के बीच अनलॉक प्रक्रिया में सिर्फ कक्षा 9 से 12 व स्नातक कक्षाओं का संचालन बीते दिनों प्रारंभ हो पाया था। अन्य कक्षाओं के छात्र-छात्राओं को शिक्षा हासिल करने में समस्या न हो, इसके लिए ऑनलाइन पढ़ाई जारी थी। हालांकि नेटवर्क की समस्या के चलते ऑनलाइन शिक्षा सुचारु रूप से छात्र-छात्राएं हासिल नहीं कर पा रहे थे। इस बीच बीते दिनों जब प्रदेश सरकार ने 10 फरवरी से उच्च प्राथमिक विद्यालयों के संचालन की अनुमति प्रदान की, तो संबंधित कक्षाओं के छात्र-छात्राओं में खुशी की लहर दौड़ गई।

यह खुशी स्वाभाविक थी, क्योंकि करीब 10 माह बाद उन्हें कक्षा में पढ़ने का मौका मिलने की मंशा पूरी होने जा रही थी। अब लगभग दो हजार निजी व सरकारी उच्च प्राथमिक विद्यालय 10 फरवरी से एक बार फिर बच्चों से गुलजार होते दिखेंगे। मंगलवार को स्कूलों में साफ-सफाई के साथ ही कक्षाओं को सैनिटाइज किया गया।

छात्र-छात्राओं में उत्साह


करीब 10 माह बाद 10 फरवरी से स्कूल खुलने को लेकर संबंधित कक्षाओं के छात्र-छात्राओं में उत्साह दिखा। अकबरपुर निवासी कक्षा आठ के विनय, सानिया, जोया, मोहम्मद अख्तर, नेहाल, अभिषेक व राजन ने खुशी का इजहार करते हुए कहा कि अरसे बाद उन्हें कक्षा में बैठकर पढ़ने को मिलेगा। इस दिन का उन्हें बहुत ही बेसब्री से इंतजार था। कक्षा सात की वर्षा, दिव्या व अंजलि ने कहा कि लंबे समय बाद न सिर्फ स्कूल में खेलने को मिलेगा, बल्कि अपने दोस्तों से भी मुलाकात होगी।

ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान अक्सर नेटवर्क की समस्या आ जाती थी। इससे मुश्किल होती थी। अब कक्षा में बैठकर पढ़ने को मिलेगा। अभिभावक दीपकुमार, शहाब परवेज व संदीप ने कहा कि अचानक विद्यालय खोले जाने की घोषणा हुई। ऐसे में अभी वह अपने बच्चों की नई ड्रेस नहीं बनवा सके हैं। ऐसे में पुराने ड्रेस में ही स्कूल भेजेंगे। बैग जरूर नया लिया है। अभिभावक रीता, निकहत व शालिनी ने कहा कि मंगलवार का पूरा दिन ड्रेस व बैग की सफाई के साथ ही कॉपी किताब को भी तैयार करने में बीत गया।


स्कूलों का जायजा लेंगे अधिकारी


स्कूल खुलने के दौरान उच्च प्राथमिक विद्यालयों तथा जूनियर स्तर के निजी विद्यालयों का बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारी जायजा लेंगे। बीएसए अतुल कुमार सिंह ने बताया कि स्कूल खुलने की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। पहले दिन व्यवस्था में कोई लापरवाही न रहे, इसलिए स्कूलों का जायजा लिया जाएगा। सभी प्रधानाध्यापकों को हालांकि पहले ही शासन के निर्देश भेज दिए गए हैं। फिर भी एहतियातन आकस्मिक चेकिंग कर यह सुनिश्चित किया जाएगा कि किसी भी स्तर पर लापरवाही न हो।

अम्बेडकर नगर से विकास कुमार निषाद की रिपोर्ट

Leave a Reply