Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

पुरुष तथा प्रकृति के असंतुलन से उत्पन्न विकृति तथा उसके निवारण को विस्तार से चर्चा की

गया।दक्षिण बिहार केन्द्रीय विश्वविद्यालय के नवनिर्मित शारीरिक शिक्षा विभाग द्वारा बेहतर स्वास्थ्य एवं तंदुरुस्त शरीर के लिए योग की बहुमूल्य भूमिका विषय पर एक राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन किया गया। दो दिवसीय राष्ट्रीय वेबीनार के पहले दिन योग के माध्यम से कायाकल्प विषय पर चर्चा की गई।कुलपति प्रो हरिश्चंद्र सिंह राठौर के संरक्षण में देशभर के विभिन्न विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय के लगभग 450 शिक्षाविदों एवं योग विशेषज्ञों ने हिस्सा लिया। राष्ट्रीय वेबीनार के मुख्य अतिथि स्वर्णिम गुजरात स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के पूर्व कुलपति डॉ० जतिन सोनी ने वेबिनार के विषय पर कई महत्वपूर्ण पहलुओं को साझा किया।


अपने अध्यक्षीय सम्बोधन में कुलपति प्रो हरिश्चंद्र सिंह राठौर ने दैनिक जीवन में योग के महत्व तथा योग के माध्यम से जीवन शैली मे बदलाव लाकर हम कैसे बेहतर तरीके से जीवन यापन कर सकते है इस बिंदुओं पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि बेहतर स्वास्थ्य एवं तंदुरुस्ती के लिए योग एक बहुमूल्य औषधि है। इससे मनुष्य के मन मस्तिष्क में सद्विचार आते हैं।वेबीनार के प्रथम वक्ता प्रो० राजीव चौधरी, संकायाध्यक्ष छात्र, पंडित रवि शंकर शुक्ल विश्वविद्यालय ने अपने उद्बोधन मे पुरुष तथा प्रकृति के असंतुलन से उत्पन्न विकृति तथा उसके निवारण को विस्तार से चर्चा की।

साथ-ही-साथ उन्होंने शरीर के विभिन्न चरणो, चक्रो तथा ध्यान को विस्तारपूर्वक समझाया।संगोष्ठी के द्वितीय वक्ता के रूप में डॉ० सुबोध सिंह, विभागाध्यक्ष, शारीरिक शिक्षा विभाग, उदय प्रताप कॉलेज, वाराणसी ने हठ योग के अभ्यास के माध्यम से श्वास पर नियंत्रण पर चर्चा की तथा विभिन्न आसनों एवं प्राणायाम से होने वाले लाभ से परिचित कराया।संगोष्ठी के तृतीय वक्ता डॉ० दीप चटर्जी, सहायक प्रवक्ता, शारीरिक शिक्षा विभाग, जादवपुर विश्वविद्यालय ने मनो-शारीरिक एकता एवं योग एक औषधि के रूप मे विषय पर अपना प्रेजेंटेशन देते हुए योग के पारंपरिक स्वरूप एवं समग्र स्वास्थ्य के बारे मे विस्तृत चर्चा की।


वेबिनार का शुभारंभ डॉ० आशीष सिंह, विभागाध्यक्ष, शारीरिक शिक्षा विभाग ने संगोष्ठी में उपस्थित सभी गणमान्य अतिथियों का स्वागत करते हुए विषय-वस्तु से सबको अवगत कराया। इसके पश्चात शिक्षा संकाय के संकायाध्यक्ष प्रो कौशल किशोर ने भी प्रतिभागियों को अपने विचारों से अवगत कराया ।

उदघाटन समारोह एवं संगोष्ठी का संचालन आयोजन सचिव एवं सहायक प्राध्यापक डॉ० गौरव कुमार सिंह ने किया। मौके पर डॉ० उषा तिवारी, डॉ० राहुल सिंह, डॉ० पिंटू लाल मंडल, डॉ० जे पी सिंह एवं मेरु जी,पीआरओ मुदस्सीर आलम शामिल हुए। अंत में धन्यवाद ज्ञापन आइक्यूएसी के समन्वयक प्रो० वेंकटेश सिंह ने किया।

गया से अश्वनी कुमार की रिपोर्ट

Leave a Reply