Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

कॉलेज में जलाशय का होगा निर्माणः लघु सिंचाई मंत्री

तृतीय विश्व युद्ध के दौरान हुई थी गया कॉलेज की स्थापनाःकुलपति

गया।गया कॉलेज गया का 78 वां स्थापना दिवस सोमवार को बड़े ही धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम का मुख्य आयोजन मानविकी भवन स्थित सभागार हॉल में हुआ। स्थापना दिवस समारोह के उद्घाटनकर्ता अनुसूचित जाति जनजाति कल्याण विभाग एवं लघु सिंचाई मंत्री डॉ संतोष कुमार सुमन, मुख्य अतिथि मगध विश्वविद्यालय बोधगया के कुलपति प्रो राजेंद्र प्रसाद, उच्च शिक्षा विभाग की निदेशक रेखा कुमारी,मगध विश्वविद्यालय बोधगया के कुलसचिव डॉ विजय कुमार,प्रति कुलपति डॉ विभूति नारायण सिंह कॉलेज के प्रधानाचार्य दिनेश प्रसाद सिन्हा ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम शुभारंभ किया।

छात्राओं ने स्वागत गान एवं महाविद्यालय के कुल गीत प्रस्तुत कर अतिथियों का अभिनंदन वंदन किया। प्राचार्य ने मंचासीन अतिथियों का स्वागत पुष्प गुच्छ एवं भगवान बुद्ध की प्रतीक चिन्ह भेंटकर की। समारोह को संबोधित करते हुए मंत्री डॉ संतोष कुमार सुमन ने कहा कि देश का बुनियाद शिक्षा पर खड़ा है।छात्र-छात्राएं देश के भविष्य होते हैं।शिक्षा तभी सफल होगी जब समाज के पिछड़े वर्गों को बुनियादी शिक्षा प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि समाज में पिछड़े वर्गों को मुख्यधारा में लाने के लिए नीतीश सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में कई योजनाएं चलाई जा रही है।


जिसका लाभ विद्यार्थियों को मिल रहा है।उन्होंने कहा कि गया कॉलेज से हमारा बेहद लगाव है। यहां के शिक्षकों के बेहतर मार्गदर्शन से ही पूरे बिहार में उच्च शिक्षा के क्षेत्र में गया कॉलेज की ख्याति है।इस कॉलेज का गौरवशाली इतिहास रहा है।


अपने उद्बोधन में मगध विश्वविद्यालय बोधगया के कुलपति राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि भारत ज्ञान और विज्ञान की कमी रही है यहां की भूमि ज्ञान से उर्वर है। हमारा विश्वविद्यालय पूरे भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी ज्ञान के प्रकाश को आलोकित करता है।विश्वविद्यालय की गौरवशाली गरिमा को बनाए रखने के लिए शोध और नवाचार को बढ़ावा दिया जा रहा है।

उच्च शिक्षा विभाग के निदेशक रेखा कुमारी ने कहा कि आज के नौनिहालों का भविष्य संवारने के लिए विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालयों में शिक्षकों की कमी दूर की जाएगी इसके लिए सरकार प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार महिला सशक्तिकरण के लिए छात्राओ के उच्च शिक्षा हेतु प्रभावकारी कदम उठाए हैं ताकि अधिक से अधिक संख्या में छात्राएं शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़े।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कॉलेज के प्राचार्य प्रो दिनेश प्रसाद सिन्हा ने कहा कि महाविद्यालय की स्थापना सन 1944 में कॉलेज के संस्थापक गोवर्धन दास डालमिया के द्वारा किया गया था। उन्होंने कहा कि महाविद्यालय सदैव उच्च गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने में प्रयासरत रहता है।


विद्यार्थियों की सुविधाओं को ध्यान रखते हुए कई महत्वपूर्ण कार्य किए जा रहे है।वही छात्र-छात्राओं द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।इस अवसर पर अंग्रेजी विभाग की विभागाध्यक्षा डॉ सरिता वीरांगना, प्रबंधन विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ अश्वनी कुमार, डॉ अटल कुमार, डॉ सोनू अन्नपूर्णा, डा आर के पी यादव, डॉ आदर्श कुमार गुप्ता सहित बड़ी संख्या में महाविद्यालय की शिक्षक शिक्षकेतर कर्मचारी एवं छात्र छात्राएं उपस्थित थे।कार्यक्रम का संचालन शिक्षा संकाय के विभागाध्यक्ष डॉ धनंजय धीरज एवं धन्यवाद ज्ञापन अंग्रेजी विभाग के प्राध्यापक डॉ अरविंद कुमार सुनील ने किया।


गया से अश्वनी कुमार की एक रिपोर्ट

Leave a Reply