Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

नागरिक परेशान ;पूरे नगर की सड़कें जर्जर ,

मेघनगर से निमिष नाहटा की रिपोर्ट


मेघनगर में रेलवे रैक पॉइंट से लोड करने वाले विभिन्न माल के ट्रांसपोर्टरों द्वारा लगातार मनमानी के चलते जमकर ओवरलोडिंग की जा रही है। मुख्य मार्गों से ओवरलोड भरे वाहन खुले आम निकलते है जिससे ऐसा नहीं लगता कि संबंधित विभाग अनभिज्ञ हो फिर भी इन ट्रांसपोर्टरों पर कोई कार्यवाही नहीं होना आश्चर्य का विषय है।ये ट्रांसपोर्टर दिन में अपने वाहनों में बॉडी से कई फीट ऊपर तक माल भरकर नगर के मुख्य मार्ग से जब गुजरते हैं तो रहवासियों एवं राहगीरों पर वाहन के ऊपर से बोरिया गिरने का खतरा भी मंडराता रहता है,वहीं रात भर इसी तरह ओवरलोडिंग का खेल चलता रहता है।


अपनी क्षमता से डेढ गुना


ओवरलोड भरे इन वाहनों के असंतुलित होने से बड़े हादसे का भय हर समय बना रहता है।

रैक पाईंट पर गाडी भरने वाले मजदूरो का कहना है कि सोना ट्रांसपोर्ट के ठेकेदार द्वारा वाहन में शासकीय राशन के 50 किलो के 840 कट्टे बॉडी से कई फीट उपर तक भरवाये जाते है जबकि 18 चक्के गाड़ी में अंडरलोड में गाड़ी की बाडी के बराबर तक या अधिकतम 500 कट्टे तक ही भरे जा सकते है ।

रविवार को शासकीय खाद्यान्न के ठेकेदार सोना ट्रांसपोर्ट द्वारा रेलवे रैक पॉइंट से इस तरह से ओवरलोड भरे गए वाहन

इस सम्बन्ध में नागरिकों द्वारा कई बार शिकायतें भी की गई लेकिन आज दिन तक मौके पर कोई ठोस कारवाई नहीं हुई जिससे इन ठेकेदारों के होंसले बुलन्द है ।


उल्लेखनीय है कि मेघनगर में शासकीय योजना के राशन सहित विभिन्न जिन्सो की एक माह मे पचास से भी अधिक मालगाडियां रेलवे स्टेशन रैक पाईंट तथा नये रैक पॉइंट से अनलोड एवं लोड होती है।यहां से संबंधित माल के ठेकेदारों द्वारा इन्हें अनलोड एवं लोड अपने वाहनों के माध्यम से किया जाता है लेकिन ठेकेदारों द्वारा अपने फायदे की लालच में परिवहन के नियमों की धज्जियाँ उड़ाते हुए जमकर ओवरलोडिंग की जा रही हैं।

एक ओर जहाँ इससे हमेशा व्यस्ततम मार्गो पर दुर्घटना का खतरा मंडराता रहता है वही दूसरी ओर इन ओवरलोड वाहनो से पूरे नगर की सड़के क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं,कई जगह तो स्पीड ब्रेकर भी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त होकर टूट चुके हैं ।

जगह जगह लग जाते हैं जाम

रेलवे स्टेशन व रैक पाईंट पर जैसे ही रैक लगती है तो इन ओवरलोड वाहनों का मेला लग जाता है जिससे दुपहिया वाहन चालकों एवं राहगीरो का चलना भी दूभर हो जाता है।एक के पीछे एक लगे इन वाहनों से रेलवे स्टेशन से लेकर आजाद चौक तथा पेट्रोल पंप व साईं चौराहा से लेकर तोल कांटे तक पूरे मार्ग पर धूल के गुबार उठते नज़र आते है।ऐसी स्थिति में किसी भी ओवरलोड भरे ट्राले के असंतुलित होकर दुर्घटनाग्रस्त होने की कल्पना ही रोंगटे खडे कर देती है ।

इन जिंसो की होती है मेघनगर में लोडिंग एवं अनलोडिंग

मेघनगर में शासकीय विभाग के गेहूँ व चावल के अलावा यूरिया तथा लोहे की मोटी चद्दरें(कोयल) एवं मैगनीज सहित अन्य कई जिंसो की लोडिंग एवं अनलोडिंग होती है।यहां के रैक पॉइंट पर प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में वाहन लगते हैं शासकीय योजना का खाद्यान्न यहां से झाबुआ जिले के अलावा अलीराजपुर बड़वानी धार एवं अन्य स्थानों को भी सप्लाई किया जाता है इसी प्रकार लोहे की मोटी शीट (कोयल) भी पीथमपुर और अन्य स्थानों पर यहाँ से भेजी जाती है।


सीमेंट तथा यूरिया भी यहां से कई जगहों के लिए भेजा जाता है

इस सम्बंध मे ट्राफिक विभाग के सुबेदार कमलसिंह ने बताया कि ओवरलोडिंग करने वाले वाहनो के खिलाफ कठोर कारवाई की जायेगी ।

फैक्ट फाइल

मेघनगर में रेलवे के दो रैक पॉइंट है

प्रतिमाह 50 से अधिक रैक अनलोड होती है
एक रैक में 60 लेकर 70 बोगियां होती है
प्रत्येक बोगी से 4 से लेकर 5 ट्राले भरे जाते हैं
प्रति रैक से 200 से लेकर 300 वाहन अनलोड होते हैं
ओवरलोड भरने से शासकीय राजस्व का भी होता है नुकसान ।

Leave a Reply