Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

कॉलेज के प्रधानाचार्य प्रो जावेद अशरफ ने सर्वसम्मति से इस संदर्भ में आधिकारिक घोषणा की

गया। जीबीएम कॉलेज की वार्षिक शोध पत्रिका “गरिमा” के प्रकाशन के लिए मुख्य संपादक का दायित्व अंग्रेजी विभाग की असिस्टेंट प्रोफेसर एवं जानी-मानी चर्चित साहित्यकार डॉ कुमारी रश्मि प्रियदर्शनी को दिया गया है। कॉलेज के प्रधानाचार्य प्रो जावेद अशरफ ने सर्वसम्मति से इस संदर्भ में आधिकारिक घोषणा की। डॉ प्रियदर्शनी को मुख्य संपादक का दायित्व दिए जाने पर महाविद्यालय परिवार के सदस्यों, शिक्षाविदों, साहित्यकारों एवं शुभचिंतकों ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं दी हैं।

गौरतलब है कि डॉ रश्मि पूर्व में भी मगध विश्वविद्यालय, बोधगया में आयोजित बिहार राज्य अंतर विश्वविद्यालय एकलव्य प्रतियोगिता-2018 तथा 64 वें अॉल इंडिया इंग्लिश टीचर्स कॉन्फ्रेंस के दरम्यान निकलने वाली स्मारिकाओं के संपादक मंडल में सक्रिय सदस्य के रूप में प्रशंसनीय भूमिका अदा कर चुकी हैं। साथ-ही-साथ डॉ रश्मि बौद्ध महोत्सव-2019 तथा 2020 के अवसर पर पर्यटन विभाग बिहार सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा प्रकाशित “तथागत” स्मारिका में भी संपादन का कार्य बड़ी ही कुशलतापूर्वक कर चुकी हैं।

प्रधानाचार्य प्रो अशरफ ने सब-एडिटर्स के तौर पर कामकाज की जिम्मेदारी हिन्दी विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ प्यारे मांझी तथा अंग्रेजी विभाग की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ पूजा को सौंपा। ‘गरिमा’ के सफल प्रकाशन हेतु आठ-सदस्यीय एक सलाहकार समिति का भी गठन किया गया। जिसमें प्रो उषा राय, प्रो किश्वर जहां बेगम, प्रो अफ्शां सुरैया, डॉ किरण बाला सहाय, डॉ निर्मला कुमारी, डॉ नूतन कुमारी, डॉ शगुफ्ता अंसारी तथा डॉ सहदेव बाउरी के नाम शामिल हैं।

बतौर असोसिएट एडिटर्स विज्ञान विभाग से डॉ शिल्पी बनर्जी, डॉ बनिता कुमारी, डॉ फरहीन वज़ीरी तथा डॉ रुखसाना परवीन, अर्थशास्त्र विभाग से डॉ नगमा शादाब, इतिहास विभाग से डॉ अनामिका कुमारी, मनोविज्ञान विभाग से प्रीति शेखर, दर्शनशास्त्र विभाग से डॉ जया चौधरी, डॉ अमृता घोष, डॉ पूजा राय तथा गृहविज्ञान विभाग से डॉ दीपशिखा पांडे एवं डॉ प्रियंका कुमारी को भी जिम्मेदारियां सौंपी गयी हैं।

 प्राचार्य प्रो अशरफ ने बताया की पत्रिका में स्तरीय शोध पत्रों को प्राथमिकता दी जाएगी। इसके प्रकाशन का मुख्य उद्देश्य छात्राओं की शोध-क्षमता तथा रचनात्मकता को प्रोत्साहित करना है। पत्रिका राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की 150 वीं वर्षगाँठ को समर्पित होगी।

गया से अश्विन कुमार की रिपोर्ट

Leave a Reply