Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

किसान आंदोलन को लेकर गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसक घटनाओं के मामले में दिल्ली पुलिस ने 3 और आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक ये तीनों आरोपी बुराड़ी और लाल किले पर हुई हिंसा की घटनाओं में शामिल थे. ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा की जांच कर रही स्पेशल इन्वेस्टिगेटिंग टीम ने इन 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

आपको बता दें कि इससे पहले SIT दिल्ली हिंसा के मामले में 2 और लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है. अब तक लाल किला हिंसा मामले में 5 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं. इससे पहले दिल्ली पुलिस की SIT ने लाल किला हिंसा मामले में 25 संदिग्ध आरोपियों की तस्वीरें जारी की थीं. बताया जाता है कि इन तस्वीरों में दीप सिद्धू भी शामिल है.

इसे भी पढ़े : म्यांमार में हुआ सशस्त्र हमला, 12 की मौत, Twitter-इंस्टाग्राम बैन, लोग सड़कों पर

वहीं दिल्ली पुलिस ने उत्तर प्रदेश में बागपत के 2 किसान नेताओं सहित 9 लोगों को नामजद करते हुए नोटिस भेजा है. आरएलडी के पूर्व विधायक वीरपाल राठी और खाप थाम्बा के चौधरी बृजपाल सिंह को दिल्ली पुलिस का नोटिस मिला है.

नोटिस मिलने के बाद चौधरी बृजपाल सिंह और आरएलडी नेताओं में रोष व्याप्त है. खाप चौधरी ने दोबारा फिर से पुलिस कार्रवाई के खिलाफ पंचायत करने की बात कही है. साथ ही उन्होंने खुद को निर्दोष भी बताया है.

खाप चौधरी का कहना है कि वह दिल्ली ट्रैक्टर परेड में शामिल भी नहीं हुए थे लेकिन दिल्ली पुलिस ने उनको नोटिस भेज दिया है, जिसमें सभी को दिल्ली पहुंचकर हिंसा मामले को लेकर बयान दर्ज कराने की बात लिखी हुई है.

इसे भी पढ़े : 16 किलो गांजे की तस्करी करते हुए 3 तस्करों को किया गिरफ्तार

दरअसल बागपत से भी कृषि कानून को लेकर भारी संख्या में लोग ट्रैक्टर परेड में शामिल हुए थे. उसी कारण दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर अब दिल्ली पुलिस ने बागपत के लोगों को भी नोटिस भेजना शुरू कर दिया है.

हिंसा में नामजद करते हुए दिल्ली पुलिस ने पूर्व विधायक वीरपाल राठी और खाप चौधरी बृजपाल सिंह सहित 9 लोगों को नोटिस भेजा है. पुलिस ने तमाम लोगों से दिल्ली पहुंच कर अपने बयान दर्ज कराने की बात लिखी है. नोटिस मिलने के बाद किसान नेता और खाप चौधरी एक बार फिर अपने खिलाफ हुई कार्रवाई से खफा हैं और किसानों की पंचायत बुलाने की बात कर रहे हैं.

Leave a Reply