Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ युवाओं को आत्‍मनिर्भर बनाना चाहते हैं. इस बाबत उनके द्वारा शुरू कराए गये प्रयासों के नतीजे दिखने लगे हैं. व्‍यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग प्रदेश के युवाओं को विदेशों में रोजगार हासिल करने के मौके मुहैया कराएगा.

कौशल विकास विभाग ने युवाओं के लिए अमेरिका के अन्‍तर्राष्‍ट्रीय डिजिटल लर्निंग प्‍लेटफार्म कोर्सेरा के माध्‍यम से नि:शुल्‍क ट्रेनिंग कार्यक्रम शुरू किया है. इससे प्रदेश के युवा अन्‍तर्राष्‍ट्रीय मानकों पर ट्रेनिंग हासिल कर इंडस्‍ट्री के लायक बन सकेंगे.

इसे भी पढ़े : अदाणी पावर ने वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाहीके समेकित परिणामों की घोषणा की ।

व्‍यावसायिक शिक्षा एवं कौश‍ल विकास विभाग के अनुसार अब तक प्रदेश के 50000 युवाओं को अमेरिका में स्थित डिजिटल लर्निंग प्‍लेटफार्म कोर्सेरा के जरिए प्रशिक्षण दिलाए जाने की व्‍यवस्‍था की है. ट्रेनिंग पूरी होने के बाद इन युवाओं को कोर्सेरा की ओर से सार्टिफिकेट भी उपलब्‍ध कराया जाएगा. विभाग के अनुसार ट्रेनिंग के बाद युवाओं को मिलने वाले सार्टिफिकेट की मान्‍यता विश्‍व के कई देशों में है। इससे देश के युवाओं को विदेशों में जाकर नौकरी करने के अवसर प्राप्‍त होंगे.

इस कड़ी में कौशल विकास विभाग की ओर से युवाओं को आत्‍मनिर्भर बनाने के लिए आभा एप को डेवलप किया गया है. इस से जुड़ कर युवा अपनी स्किल को डेवलप कर सकते हैं. एप में कई तरह के स्‍व रोजगार से जुड़े हुए विडियोज भी अपलोड किए गए हैं.

जिनसे युवाओं को आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलेगी. इसके अलावा मुख्‍यमंत्री अप्रेंटिसशिप प्रमोशन स्‍कीम भी युवाओं को काफी भा रही है. इसमें उद्योगों में अप्रेंटिस के रूप में काम करने वाले युवाओं को 1000 रुपए प्रतिमाह स्‍टाइपेंड दिया जा रहा है.

इसे भी पढ़े : मंत्रिमंडल विस्तार.. अबकी बरेली- पीलीभीत को भी आस—

राज्‍यमंत्री व्‍यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास कपिल देव अग्रवाल के मुताबिक कोरोना संक्रमण के दौरान प्रदेश में आए 38 लाख से अधिक श्रमिकों का भी कौशल विकास कार्यक्रम जारी है. इन श्रमिकों की आजीविका का प्रबंध कर उनको पैरों पर खड़ा करने का प्रयास कामयाब हो रहे हैं. श्रमिकों को रिकगनाइजेशन ऑफ प्रि‍रियर लर्निंग आरपीएल के तहत उनको ट्रेनिंग दिए जाने का काम तेजी से चल रहा है.

Leave a Reply