Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644


मामला, एएनएम माया जिंदल की मौत के बाद पिता पुत्री के साथ हुई धोखाधड़ी का


उज्जैन। एएनएम माया जिंदल की मौत के बाद उसकी पुत्री तथा पति के साथ हुई धोखाधड़ी की जांच के लिए अब राष्ट्रपति सचिवालय ने मध्यप्रदेश सरकार के मुख्य सचिव को पत्र लिखा है।


नईदिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन से आये पत्र में विशेष कार्याधिकारी आरके शर्मा ने मुख्य सचिव को लिखा है कि उज्जैन के न्यू लक्ष्मीनगर निवासी धनेशकुमार जिंदल के पत्र पर उचित कार्रवाई की जाए। दरअसल धनेश जिंदल ने राष्ट्रपति के नाम पत्र लिखकर न्याय की गुहार लगाई थी।

इसे भी पढ़े : राहुल गांधी के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज

धनेश ने पत्र में लिखा था कि मेरे एवं मेरी पुत्री मान्या जिंदल के साथ हो रहे घोर भ्रष्टाचार, धोखाधड़ी में सीएमएचओ डॉ. महावीर खंडेलवाल, प्रीति भावलकर शामिल हैं, इन्होंने मुझसे 5 लाख की रिश्वत की मांग की, रिश्वत नहीं दिये जाने पर मेरी पत्नी माया जिंदल की मौत के बाद 5 सितंबर 2020 सर्विस पुस्तिका अभिलेखों में हेराफेरी कर गलत लोगों के नाम चढ़ा दिए।

धनेश ने कहा कि मरणोपरांत माया की अंतिम निशानी मान्या जिंदल को जो ढाई लाख की राशि मिलनी चाहिये थी वह फर्जी व्यक्ति को 34, अर्पिता कॉलोनी नानाखेड़ा में दे दी गई। लोकतंत्र की हत्या कर मान्या जिंदल और मेरे अधिकारों का हनन किया गया।

इसे भी पढ़े : म्यांमार में तख्तापलट के बाद सेना ने अब फेसबुक पर भी लगाया अस्थायी रोक

सैकड़ों शिकायत की, खून से पत्र लिखा लेकिन इंसाफ नहीं मिला इच्छामृत्यु की अनुमति भी नहीं दे रहे। कलेक्टर, एसपी, स्वास्थ्य संचालक सहित लगभग सभी वरिष्ठ अधिकारियों aको इस भ्रष्टाचार से अवगत कराया लेकिन किसी ने कोई कार्रवाई नहीं की। राष्ट्रपति से मांग की थी कि जल्द से जल्द कार्यवाही कर मुझे एवं मेरी पुत्री को न्याय दिलाया जाए।

Leave a Reply