Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644


उज्जैन। विशेष न्यायाधीश पंकज चतुर्वेदी द्वारा पारित निर्णय शनिवार को विशेष पुलिस स्थापना लोकायुक्त उज्जैन के अपराध क्रमांक 225/2016 में तहसील महिदपुर के ग्राम पंचायत नलखेड़ा के सचिव भंवर लाल मकवाना को भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 7 एवं 13(2) में चार-चार वर्ष सश्रम कारावास एवं दोनों धाराओं में कुल 20 हजार रुपए के अर्थदण्ड से दंडित किया गया।

मामला इस प्रकार है कि फरियादी राजेश नाथ निवासी ग्राम नलखेड़ा ने  11 जुलाई2016 को पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त  से इस आशय की शिकायत की गई थी कि ग्राम नलखेड़ा आबादी में बने उसके मकान के संबन्ध में ग्राम पंचायत नलखेड़ा के सचिव द्वारा उसकी मां उषा बाई के नाम बार – बार नोटिस जारी कर परेशान कर रहा है।

इसे भी पढ़े : अवैध रूप से शराब विक्रय के विभिन्न मामलों में सजा

और जब वह इस संबन्ध में सचिव से मिला तो सचिव भंवरलाल ने मकान को स्थाई करने एवं आगे नोटिस जारी नहीं करने के एवज में आवेदक से 25000/- रुपए रिश्वत की मांग की गई। वह रिश्वत नहीं देना चाहता बल्कि उसे रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़वाना चाहता है।

शिकायत की तस्दीक वॉइस रिकॉर्डर के माध्यम से कराए जाने पर आरोपी भंवर लाल द्वारा 25000 रिश्वत की स्पष्ट मांग की जाना पाया गया। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त के निर्देशन में तत्कालीन निरीक्षक श्री कमल निगवाल द्वारा ट्रैप कार्यवाही आयोजित कर आरोपी भंवर लाल को दिनांक 13 जुलाई.16 को कस्बा झारड़ा में थाने के पास खुले मैदान में आरोपी भंवर लाल को फरियादी राजेश नाथ से रिश्वत की राशि लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया।

ट्रैप के समय आरोपी ने लोकायुक्त टीम को देखकर रिश्वती नोट जमीन पर फेंक दी थी।मौके पर आरोपी का हाथ घोल में धुलाये जाने पर घोल का रंग गुलाबी हो गया था। एफएसएल द्वारा अपने रासायनिक परीक्षण में आरोपी के हाथ धुलाने के घोल में फिनाफ्थलीन रसायन धनात्मक पाया था।


 विवेचना में अपराध प्रमाणित पाए जाने पर लोकायुक्त संगठन द्वारा आरोपी के विरुद्ध अभियोग पत्र न्यायालय में  23.मार्च 2018 को प्रस्तुत किया गया था। जिसमें विचारण उपरांत विशेष न्यायाधीश भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम उज्जैन  पंकज चतुर्वेदी द्वारा आरोपी को दोष सिद्ध कर भैरूगढ़ जेल भेज दिया गया।

Leave a Reply