Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644


रितिका लंगर जैफरी इन्वेस्टमेंट बैंक यूरोप मिडिल ईस्ट अफ्रीका-ईएमईए की पहली महिला मैंनेजिंग डायरेक्टर नियुक्त  की गयी


उज्जैन। उज्जैन की रितिका लंगर शर्मा, जैफरी इन्वेस्टमेंट बैंक यूरोप मिडिल ईस्ट अफ्रीका-ईएमईए की पहली महिला मैंनेजिंग डायरेक्टर नियुक्त की गयी। विश्व भर के 69 लोगों में से उनका चयन किया गया।

जैफरी कंपनी यूरोप मिडिल ईस्ट अफ्रीका ईएमईए में 2007 में बनी थी उसके पश्चात रितिका लंगर शर्मा पहली महिला है जो मेनेजिंग डायरेक्टर बनायी गईं हैं। जैफरी की इन्वेस्टमेंट बैंक की वर्ल्ड रैंकिंग 2020 के अनुसार 26वी रैंकिंग दी गई है जो की अपने आप में महत्वपूर्ण है।


रितिका लंगर ऐसी प्रथम युवा थी जिसे उज्जैन से अजमेर देश के प्रसिद्ध मेव कॉलेज में शिक्षा प्राप्त करने का अवसर प्राप्त हुआ। उसके पश्यात दिल्ली के प्रसिद्ध विद्यालय दिल्ली पब्लिक स्कूल,आर. के पुरम में 11वी कक्षा में उनका प्रवेश 99/- अंक प्राप्त होने के कारण मिला। 12वी में उन्होंने गणित एंड बायोलॉजी दोनों विषय लिए, क्यूंकि वो ये निश्चित नहीं कर पा रही थी इंजीनियर बने या डॉक्टर।

इसे भी पढ़े : आरोप: धर्म परिवर्तन के लिए लोगों को इकट्ठा कर लाए,फादर का इन्कार

तत्पश्यात 12वी के बाद उन्होंने इंजीनियर बनने का प्रण लिया। उन्होंने पुणे के प्रसिद्ध कॉलेज भारतीय ज्ञानपीठ में मात्र 1 सीट खाली होने के कारण प्रोडक्शन (मेकैनिकल मैनेजमेंट) विषय प्राप्त किया। अपनी कक्षा में वे अकेली युवती थी जिसके कारण उन्हें कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा था।

कड़े संघर्ष के बाद उन्होंने पुणे विश्वविद्यालय में प्रथम स्थान प्राप्त कर एक नई उपलब्धि प्राप्त की। विश्वविद्यालय से ही उन्हें लोरियल कंपनी के लिए कैंपस चयन के द्वारा अपने करियर की यात्रा प्राम्भ की। उसके पश्यात उनका चयन बिज़नेस मैनेजमेंट संस्था आईईएसई बार्सिलोना में चयन हुआ।

तत्पश्यात टूक बिज़नेस ऑफ़ मैनेजमेंट में भी शिक्षा प्राप्त की। अपनी शिक्षा के दौरान आपको वर्ष 2008 में लेहमन (यूरोप) द्वारा एमबीए के विद्यार्थियों के लिए आयोजित प्रतियोगिता में भी आप चयनित हुयी थी जिसमें आपको 10,000 यूरो का सम्मान भी प्राप्त हुआ था।


उक्त पद रितिका ने अपने पारिवारिक दायित्वो को निभाते हुए प्राप्त किया। वर्तमान में पुत्री रेहा एवं पुत्र आरव एवं पति अनुपम शर्मा जो की “अर्ण एंड यंग“ कंपनी में कार्य कर रहे है। इन सभी जिम्मेदारियों के साथ वे खुशहाल जीवन व्यतीत कर रही है। रितिका का कहना है वैसे तो हम बेटियों को आगे बढ़ाने की बहुत बातें करते है। परन्तु युवतियों को जीवन में आगे बढ़ने के लिए, कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। कठिनाईयों से घबरायें नहीं, संघर्ष करें सफलता अवश्य प्राप्त होगी।

Leave a Reply