Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644
100 साल पहले वाराणसी से चोरी हुई थी माता अन्नपूर्णा की मूर्ति
मैकेंजी ने 1913 में भारत की यात्रा की थी उसी के बाद यहां से कनाडा पहुंची मूर्ति

नई दिल्ली। देवी अन्नपूर्णा की प्राचीन मूर्ति जो लगभग 100 साल पहले वाराणसी के घाट से चोरी हो गई थी वापस भारत लाइ जा रही है। यह मूर्ति कनाडा रेजिना विश्वविद्यालय की ऑर्ट गैलरी में रखी है और जल्द ही इसे कनाडा से वापस वाराणसी लाया जा रहा है !

इसे भी पढ़े : बैंक ऑफ बड़ौदा के लॉकर से गायब हो गया करोड़ों का सोना

कनाडा के विश्वविद्यालय में रखी माता अन्नपूर्णा की मूर्ति पर दिव्या मेहरा नाम की एक कलाकार ने कहा है कि मूर्ति को गलत तरीके से 100 वर्ष पहले वहां लाया गया था। दिव्या ने मुद्दा उठाया और कहा था कि यह अवैध रूप से कनाडा में लाई गई है। शुक्रवार को विश्वविद्यालय के उप कुलपति ने कनाडा में भारतीय राजदूत के साथ एक वर्चुअल मुलाकात की और आधिकारिक तौर पर उन्हें माता अन्नपूर्णा की मूर्ति सौंपी। भारतीय राजदूत ने इसके लिए कनाडा के विश्वविद्यालय का धन्यवाद किया है।

मूर्ति शोध में सामने आया कि मैकेंजी ने 1913 में भारत की यात्रा की थी यह मूर्ति उसी के बाद यहां से कनाडा पहुंची। अन्नपूर्णा माता अपने एक हाथ में खीर और दूसरे में चम्मच लिए हुए हैं! मूर्ति की वसीयत 1936 में मैकेंजी ने करवाई थी और विश्वविद्यालय की गैलरी के संग्रह में जोड़ा गया था।


Leave a Reply