Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

नई दिल्ली! कोर्ट ने कहा, आपने आज केंद्र के साथ बातचीत शुरू की है। जबकि, आपको यह पहले करना चाहिए था। हम यह नहीं कह रहे कि आप कार्रवाई नहीं कर रहे हैं, पर जो कर रहे हैं, वह काफी नहीं है। हर रोज मौतों का आंकड़ा बढ़ रहा है। रोज कोई न कोई अपने किसी करीबी या परिजन को खो रहा है। उन्हें क्या जवाब देंगे !

इसे भी पढ़े : नाबालिग का अपहरण कर दुष्कर्म करने वाले आरोपी की जमानत निरस्त

यह कोर्ट उन लोग को निशाने पर क्यों नहीं लेती जिनके सिर्फ एक अंधे आदेश के चलते पता नहीं कितने लोगों ने रास्ते में पैदल चल चलकर दम तोड़ दिया, कितने लोग भूख की वजह से मर गए और इस अचानक किए गए फैसले की वजह से कितने लोग भुखमरी की कगार पर आकर आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो गए! कोर्ट को उनसे भी यही सवाल करना चाहिए था!

Leave a Reply