Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644
ग्राहकी के लिए इलेक्ट्रानिक बाजार भी तैयार है

धनतेरस के एक दिन पूर्व सजावट का सामान खरीदा गया


शाजापुर। धनतेरस पर गुरुवार को खुब धन बरसेगा और इसीके साथ पांच दिवसीय दीपोत्सव की शुरूआत भी हो जाएगी। धनतेरस को लेकर अच्छी ग्राहकी के लिए बाजार भी पूरी तरह से सजकर तैयार हो गया है। व्यापारियों के अनुसार लॉक डाउन के बाद अब धनतेरस पर अच्छा व्यापार होने की संभावना है। हालांकि इस बार पिछले साल की अपेक्षा व्यापार कम ही होगा।

उल्लेखनीय है कि दीपावली पर्व को लेकर प्रतिष्ठानों से लेकर घर की साफ-सफाई पूरी हो चुकी है और ग्राहकी के लिए बाजार भी सजकर तैयार हैं। बर्तन बाजार एवं सराफा बाजार में खास तैयारियां की गई हैं तो मिठाई की दुकानों से भी पकवानों की महक आने लगी है। इसीके साथ ऑटो मोबाईल पर भी लोगों ने अपने पसंदीदा वाहन की बुकिंग कर दी है।

गौरतलब है कि इस वर्ष धनतेरस पर अच्छे व्यापार की संभावना है और व्यापारियों के अनुसार इस बार धनतेरस के मौके पर करीब 10 करोड़ का कारोबार हो सकता है, जो पिछले वर्ष की अपेक्षा आधा है।  इस कारोबार में ऑटो मोबाईल का करीब 5 करोड़ रुपए का व्यापार शामिल है। वहीं बाकि का व्यापार सराफा, बर्तन, कपड़ा और इलेक्ट्रानिक बाजार में होने को है।

ऑटो मोबाइल संचालकों का कहना है कि इस वर्ष धनतेरस पर करीब 300 बाइक, कार और अन्य वाहनों की बिक्री होगी जिसके चलते इस बार कारोबार 5 करोड़ तक पहुंच सकता है। इसीके साथ धनतेरस पर सराफा बाजार, इलेक्ट्रानिक, कपड़ा बाजार, बर्तन, मोबाईल बाजार में भी करोड़ों के कारोबार की उम्मीद है।

इसे भी पढ़े : लव जिहाद की पीड़िता को इंसाफ दिलाने आगे आई करणी सेना


छह दिनों तक बंद रहेगी मंडी


प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी दीपोत्सव के पहले दिन से कृषि उपज मंडी में खरीदी का कार्य थम जाएगा और छह दिनों तक मंडी बंद रहेगी। मंडी के व्यापारियों ने बताया कि इस वर्ष भी धनतेरस से भाई दूज तक सब्जी, फल और अनाज की खरीदी नही की जाएगी जिसके कारण पूरे छह दिनों तक मंडी बंद रहेगी। इसके बाद तौल कांटे की पूजा कर मुहूर्त में मंडी में खरीदी का कार्य शुरू किया जाएगा।


हर घर दिवाली अभियान


शहरों एवं ग्रामों की संसाधन विहीन बस्तियों में रहने वाले घरों में भी दिवाली अच्छे से मनाई जा सके, इसके लिए राज्य आनंद संस्थान द्वारा हर घर दिवाली अभियान शुरू किया गया है। इस अभियान के अंतर्गत साधन विहीन लोगों का सहयोग कर अनाज, कपड़े, मिठाई, पटाखे, खिलौने या इसी तरह की अन्य वस्तुएं उपहार स्वरूप भेंट की जाएंगी।

कलेक्टर दिनेश जैन ने जिले की स्वयंसेवी संस्थाओं, आनंद क्लबों, आनंदकों एवं आम नागरिकों से आह्वान किया है कि प्रत्येक शहर एवं गांवों में ऐसे कई परिवार हैं, जो कुछ नया खरीदना चाहते हैं, उत्साह से त्यौहार को मनाना चाहते हैं, परंतु उनके पास संसाधन नही हैं। अपने आसपास की बस्तियों के इन परिवारों के बीच पहुंचकर कुछ समय बिताएं,  संसाधन विहीन परिवारों की यथोचित मदद करें, ताकि समाज के प्रत्येक परिवार में दीपावली की खुशियां पहुंचे, और सही मायने में त्यौहार की सार्थकता सिद्ध हो।


पटाखे नहीं फोडऩे की अपील


मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी एसएन द्विवेदी ने कोविड 19 के संक्रमण को देखते हुए आम नागरिकों से अपील की है कि इस साल दीपावली पर पटाखे नहीं छोड़ें। द्विवेदी ने बताया कि कोरोना पीडि़तों को सब से अधिक परेशानी सांस फूलने की होती है, ये फेफड़े से संबंधित है। जो लोग कोरोना से ठीक हो जाते हैं उन्हें भी पूरी तरह सामान्य होने में बहुत समय लगता है।

उन्होने आम नागरिकों से अपील की है कि इस साल कोरोना महामारी को देखते हुए हम और हमारा पूरा परिवार दीपावली पर पटाखे नहीं छोड़े। इस महामारी में किसी भी जगह होम क्वारंटीन रह रहे मरीजों के लिए यह जहरीली गैस बहुत घातक होगी। उन्होंने बताया कि वरिष्ठ चिकित्सकों की रिपोर्ट अनुसार पटाखों का धुंआ कोरोना काल में घातक है। दीपावली पर हमें पटाखें के जहरीले धुंए से शहर को बचाना है।

Leave a Reply