Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

आगर से आठवें राउंड का नतीजा

कांग्रेस के विपिन वानखेड़े आगे
भाजपा के मनोज ऊंटवाल से 40 वोटों से आगे हुवे, अभी 16 राउंड की मतगणना बाकी।


आगर से नवें राउंड का नतीजा

कांग्रेस के विपिन वानखेड़े आगे
भाजपा के मनोज ऊंटवाल से 1116 वोटों से आगे हुवे, अभी 15 राउंड की मतगणना बाकी।


आगर से दसवें राउंड का नतीजा

कांग्रेस के विपिन वानखेड़े आगे
भाजपा के मनोज ऊंटवाल से 1051 वोटों से आगे हुवे, अभी 14 राउंड की मतगणना बाकी।

आगर से ग्यारवें राउंड का नतीजा

कांग्रेस के विपिन वानखेड़े आगे
भाजपा के मनोज ऊंटवाल से 342 वोटों से आगे, अभी 13 राउंड की मतगणना बाकी।

इसे भी पढ़े : अपने ही एड की वजह से एक बार फिर सुर्खियों में आई टाटा समूह की कंपनी तनिष्क

आगर से बारवें राउंड का नतीजा

कांग्रेस के विपिन वानखेड़े आगे
भाजपा के मनोज ऊंटवाल से 656 वोटों से आगे, अभी 12 राउंड की मतगणना बाकी।

अगर से तेरवें राउंड का नतीजा

कांग्रेस के विपिन वानखेड़े आगे
भाजपा के मनोज ऊंटवाल से 810 वोटों से आगे, अभी 11 राउंड की मतगणना बाकी।

बिहार विधानसभा चुनाव : कभी भी हो सकता है बड़ा उलटफेर, 3000 से भी कम 123 सीटों पर अंतर

बिहार में विधानसभा चुनाव की मतगणना सुबह 8 बजे से शुरू हो गई थी। शुरुवाती रुझान में महागठबंधन आगे नजर आ रही थी तो वहीं बाद ताजा रुझान के अनुसार फिर से एनडीए की वापसी होते हुए आ रही है। लेकिन यह अभी का रुझान है। यहाँ पर कुछ ही समय में स्थिति बदल सकती है। ऐसे में अंतिम नतीजों में फिर से बड़ा उलटफेर देखने को मिल सकता है।

यह है उलटफेर वाली सीट


1 बजे तक के आंकड़ों के अनुसार 166 सीटों पर वोटों का अंतर 5000 से कम था। और 123 सीटों में यह अंतर 3000 से भी कम है। और 80 सीटों पर यह आंकड़ा 2000 से भी कम है। 49 सीटों पर मतों का ये अंतर 1000 से भी कम है। 500 वोट से कम मतों के अंतर वाली 20 सीटें हैं जबकि 7 सीटें ऐसी हैं जहां वोटों का मार्जिन 200 से कम है। जाहिर सी बात है की यह बहुत ही काम अंतर है और बड़ा उलटफेर हो सकता है।


इस बार देरी से आ सकते हैं चुनाव परिणाम


चुनाव आयोग के प्राप्त जानकारी के अनुसार इस बार चुनावी परिणामो में थोड़ी देरी हो सकती है। इस विलम्ब होने का मुख्य कारण कोरोना है जिसके नियम को पालन करते हुए तदान केंद्रों की संख्या इस बार 72,723 से बढ़ाकर 1,06,515 की गई थी। इस कारण पोलिंग बूथ में 46.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी। इसी वजह से मतगणना देर रात तक हो सकती है।

Leave a Reply