Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

फसल बीमा राशि वितरण की समीक्षा के लिए शुजालपुर में बैठक

 


समीक्षा करते मंत्री।


बैठक में मौजूद अधिकारी।


शाजापुर। किसानों के वर्ष 2019 की फसल बीमा राशि वितरण के संबंध में शुक्रवार को प्रदेश के स्कूल शिक्षा स्वतंत्र प्रभार एवं सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इंदरसिंह परमार ने शुजालपुर में बीमा कंपनी, कृषि एवं राजस्व विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर बीमा राशि वितरण में विसंगतियों की समीक्षा की। इस दौरान कलेक्टर दिनेश जैन,  अनुविभागीय अधिकारी प्रकाश कस्बे भी मौजूद थे।

राज्यमंत्री ने संबोधित करते हुए कहा कि वर्ष 2019 की फसल बीमा राशि वितरण में विसंगति से कई ग्रामों एवं पटवारी हल्कों के किसान वंचित रहने से उत्पन्न परिस्थितियों को देखते हुए प्रशासनिक अधिकारियों और बीमा कंपनी के अधिकारियों के साथ बैठकर समीक्षा की गई है।

इसे भी पढ़े : 61 गुमशुदा मोबाइलों बरामद करने में पुलिस को मिली बड़ी सफलता ।

राज्यमंत्री ने कहा कि किसानों के हितों की रक्षा की जाएगी और सभी पात्र किसानों को बीमे की राशि दिलवाई जाएगी। उन्होने कहा कि किसानों की जागरूकता के कारण ही बीमा राशि नही मिलने या विसंगति होने की जानकारी मिल पाई है। उन्होने कहा कि किसानों के साथ किसी भी तरह का छल नहीं होने देंगे, सभी बीमित किसान जो पात्रता रखते हैं उन्हें बीमा राशि दिलवाई जाएगी।


बीमा योजना के तहत त्रुटियों के परिशोधन के निर्देश


कलेक्टर ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत त्रुटियों के परिशोधन हेतु निर्देश दिए हैं। जारी निर्देशानुसार प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत भारत सरकार द्वारा जारी परिचालन दिशा निर्देश की कण्डिका क्रमांक 35.9 के प्रावधानों के तहत राष्ट्रीय फसल बीमा पोर्टल पर कृषकों का विवरण प्रविष्ट किए जाने के पूर्व संबंधित कृषक से संलग्न अनुसार आधारभूत जानकारी एवं घोषणा पत्र अनिवार्य रूप से प्राप्त किया जाएगा।

पटवारी हल्कावार एवं ग्रामवार कृषकों द्वारा धारित भूमि का अद्यतन राजस्व अभिलेख प्राप्त किया जाकर एक माह में भूमि जोत पंजी अद्यतन की जावे तथा शासन के निर्देशानुसार सामान्य साख सीमा पत्रक के संधारण की कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। प्रत्येक प्राथमिक कृषि साख सहकारी संस्थाओं के अंकेक्षण में अंकेक्षण वर्ष में किए गए बीमा की जानकारी संलग्न प्रपत्र अनुसार एकत्र की जाकर यह प्रपत्र एवं इसकी विवेचनात्मक रिपोर्ट अनिवार्यत: अंकेक्षण टीप में संलग्न किए जाएंगे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: