Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

उज्जैन।प्रोपरायटर राजराजेश्वरी मोटर्स लिमिटेड शुजालपुर के मालिक डीलर सोनालिका इंटरनेशनल ट्रेक्टर्स धर्मेंद्र परमार निवासी शुजालपुर द्वारा बैंक आफ इंडिया शाखा शुजालपुर में बंधक रखे गये दस्तावेज बैंक अधिकारियो से सांठ-गांठ कर षडयंत्र पूर्वक प्राप्त कर उक्त दस्तावेजो के आधार पर पंजाब नेशनल बैंक से 73,84,403/- रुपयो का ऋण प्राप्त कर धोखाधडी करने पर ईओडब्ल्यु उज्जैन द्वारा ऋणी /ग्यारंटर एवं शाखा प्रबंधक, सहायक प्रबंधक बैंक आफ इंडिया शाखा शुजालपुर के विरुद्ध धारा 420, 120बी, भादवि.एवं संहपठित धारा भ्रनिअ 13(1)डी 13(2) एवं भ्रनिअ. संशोधित 2018 की धारा 7-सी के अंतर्गत प्रकरण दर्ज।

पुलिस अधीक्षक आर्थिक अपराध इकाई उज्जैन द्वारा बताया कि  08.10.2018 को पंजाब नेशनल बैंक के वरिष्ठ अधिकारियो द्वारा इकाई में शिकायत की गई थी कि संदेही श्री धर्मेंद्र परमार प्रोपरायटर राजराजेश्वरी मोटर्स लिमिटेड शुजालपुर डीलर सोनालिका इंटरनेशनल ट्रेक्टर्स एवं इनके ग्यारंटर श्री कृष्णपाल परमार, श्री सुनिल परमार द्वारा पंजाब नेशनल बैंक की शाखा शुजालपुर से धोखाधडी पूर्वक ,जालसाजी ,दोषपूर्ण संपत्ति को बंधक रखकर बैंक को सदोष हानि पहुंचाकर 73,84,403/- रुपयो का ऋण लेने तथा ऋणी तथा ग्यारंटर को सदोष लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया गया था।

शिकायत पत्र में वर्णित तथ्यो की जांच श्री पी.के.व्यास उप निरीक्षक इकाई उज्जैन से कराई गई। जिस पर प्रथम दृष्टया पाया गया कि ऋणी धर्मेंद्र परमार , ग्यारंटर कृष्णपाल एंव सुनील परमार द्वारा चेनल फायनेंस स्कीम के तहत डीलर/ऋणी को ट्रेक्टर की विक्रय राशि बैंक के पास जमा कराने तथा कस्टमर को ट्रेक्टर देने से पहले मूल फार्म 22 बैंक से प्राप्त करना था। परंतु ऋणी/डीलर द्वारा विक्रय राशि बैंक के पास जमा किये बिना और मूल फार्म 22 प्राप्त किये बिना ही ट्रेक्टर्स का विक्रय कर ऋणी फरार हो गया। ऋणी एवं ग्यारंटर द्वारा बेईमानी के आशय से छल पूर्वक बैंक आफ इंडिया शाखा में बंधक हेतु जमा प्रापर्टी के दस्तावेज बैंक आफॅ इन्डिया के अधिकारियो से संाठगांठ कर प्राप्त किये। तत्पश्चात उक्त दस्तावेज पंजाब नेशनल बैंक शाखा शुजालपुर में जमा करके 73,84,403/- लाख रुपयो का ऋण धोखाधडी पूर्वक प्राप्त कर डीलर द्वारा धोखाधडी की गई है।

शाखा प्रबंधक श्री सुरेश कदम एवं सहायक प्रबंधक श्री भगवत छापडिया द्वारा अपनी अभिरक्षा में रखे गये प्रापर्टी के दस्तावेज आरोपी धर्मेंद्र परमार एवं ग्यारंटर से सांठगांठ कर बेईमानी के आशय से छल पूर्वक सदोष अभिलाभ पहुंचाने के लिये दिये गये। उक्त दस्तावेज के आधार पर पंजाब नेशनल बैंक शाखा शुजालपुर द्वारा 73,84,403/- लाख रुपये का ऋण कंपनी को प्रदाय किया गया। । धर्मेंद्र परमार , कृष्णपाल  ,सुनील परमार एवं बैंक आफ इंडिया शाखा प्रबंधक सुरेश कदम , सहायक प्रबंधक भगवत छापडिया द्वारा छल पूर्वक बेईमानी के आशय से अपने पदीय कर्तव्यों से परे होकर भ्रष्ट आचरण प्रदर्शित करने का दोषी पाया जाने से धारा 420,120बी भादवि एवं  भ्रनिअ. 1988 की धारा 13(1)डी ,13(2) एवं संशोधित अधिनियम 2018 भ्र.नि.अधि की धारा 7-सी के पर्याप्त साक्ष्य पाये जाने से आरोपीगणो के विरूद्ध प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। 

Leave a Reply