Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

अंबेडकर नगर। जिले शहर के मुख्य सड़क शहजादपुर मार्केट चौक दोनों तरफ दुकानों से सजी हुई है, जिससे फुटपाथों पर भी पैदल राहगीरों को चलने जगह नहीं मिल रही है। फुटपाथ पर बाइक व दुकानदारों ने अस्थाई तरीके से कब्जे कर लिए है। जिसे लेकर पुलिस और अकबरपुर नगर पालिका कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। नतीजन हर दिन सड़क पर जाम की स्थिति निर्मित हो रही है।

सबसे बुरी स्थिति साप्ताहिक बाजार बृहस्पतिवार के दिन देखने को मिलती है। शहजादपुर मार्केट पर तो चलना मुश्किल हो जाता है। बृहस्पति को रोड पर करीब 1 घंटे का जाम लगा रहा। इस मार्ग पर वाहन और पैदल राहगीर रेगतें हुए नजर आए। जाम को लेकर जगह-जगह झड़प भी हो जाती है अपनी दुकानदारी करने के चक्कर में दुकानदार दोनों तरफ गाड़ियां खड़ी करवा देते हैं और सड़क पूरी तरह जाम हो जाता है।

साथ-साथ बाजार पहुंचे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है चौकानें वाली बात तो यह भी रही कि पुलिस ने हालत को जानते हुए भी साप्ताहिक बाजार के दिन पुलिस पाइंट पर बल तैनात नहीं किया। जबकि पुलिस को भी जाम का सामना करना पड़ा। नगर की सभी मुख्य सड़कों पर अस्थाई दुकानों एवं स्थाई दुकानदारों ने कब्जा जमा लिया है।

लोगों को आए दिन जाम की समस्या से दो-चार होना पड़ रहा है। दुकानदार मुख्य सड़क तक दुकान का सामान निकाल कर अतिक्रमण कर रहे हैं। जिससे बाजार में वाहनों का आना-जाना काफी कठिन हो गया है। एंबुलेंस जेपी इमरजेंसी सेवाएं घंटो सड़क पर रेंगते हुए चलती हैं रोड पर सड़क के किनारे लगने वाली सब्जी दुकानों और सड़क के बीचों बीच सजने वाले ठेलों से आवागमन अवरुद्ध होता हैं।

अतिक्रमण के चलते काफी चौड़ी सड़क भी सकरी हो गई है। इस पर एक भी बड़ा वाहन आने पर जाम लग रहा है। स्थानीय प्रशासनिक एवं पुलिस के अधिकारियों की चुप्पी के चलते अतिक्रमणकारियों का मनोबल दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। कोई भी अधिकारी सड़कों को अतिक्रमण से मुक्त कराने के लिए आगे आने को तैयार नहीं है। शहर के जागरूकजनों ने कई बार नगर की सभी सड़कों को अतिक्रमण मुक्त करने की मांग की है, लेकिन नगरपालिका प्रशासन अतिक्रमण हटाने की चेतावनी के अलावा कोई ठोस कार्रवाई आज तक नहीं कर पाया है।जिसके कारण आम जनता को यह परेशानियों का दंश झेलना पड़ रहा है।

Leave a Reply