Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

 

हफ्ते भर पहले संसदीय समिति ने की थी पूछताछ

भारतीय जनता पार्टी के एक नेता के नफरत भरे भाषणों पर रोक लगाने की जगह उन्हें नजरअंदाज किया

विवाद में अंखी दास का नाम सुर्खियों में रहा

भारत में फेसबुक के 300 मिलियन से भी ज्यादा यूजर

करीब दो घंटे तक समिति ने पूछताछ की.


अगस्त महीने में एक अमेरिकी अखबार की रिपोर्ट में बताया गया था कि अंखी दास ने सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के एक नेता के नफरत भरे भाषणों पर रोक लगाने की जगह उन्हें नजरअंदाज किया.


फेसबुक की एग्जीक्यूटिव अंखी दास ने कंपनी में अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने मंगलवार को ये जानकारी दी. हाल ही में भारत में फेसबुक पर कथित पक्षपात और नफरत फैलाने वाले भाषणों को लेकर अनदेखी करने का आरोप लगा था, इस विवाद में अंखी दास का नाम सुर्खियों में रहा था.


अंखी दास का इस्तीफा कंपनी और उनसे सरकार द्वारा हुई पूछताछ के एक सप्ताह बाद आया है. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर राजनीतिक सामग्री को कैसे रेगुलरेट किया जाता है, इसको लेकर भी फेसबुक कंपनी से लगातार सवाल किए जा रहे थे. मालूम हो कि भारत में फेसबुक के 300 मिलियन से भी ज्यादा यूजर हैं.


पिछले सप्ताह अंखी दास डेटा प्राइवेसी से जुडे़ मामलों से संबंधित सवाल-जवाब के लिए एक संसदीय समिति के समक्ष पेश हुई थीं. मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया कि इस दौरान उनसे करीब दो घंटे तक समिति ने पूछताछ की.


दरअसल अगस्त महीने में एक अमेरिकी अखबार की रिपोर्ट में बताया गया था कि अंखी दास ने सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के एक नेता के नफरत भरे भाषणों पर रोक लगाने की जगह उन्हें नजरअंदाज किया. इसके बाद उनकी काफी आलोचना हुई. हालांकि जब एक संसदीय समिति ने फेसबुक को इस मामले में तलब किया तब अंखी दास की जगह कंपनी के बिजनेस प्रमुख अजीत मोहन समिति के सामने आए.

Leave a Reply

%d bloggers like this: