Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

 

असत्य पर सत्य की विजय का पर्व दशहरा हर्षोल्लास के साथ मनाया

सोयतकलां-(राजेश बैरागी) 27 अक्टूबर 2020


असत्य पर सत्य की विजय का पर्व दशहरा नगर परिषद के द्वारा नई आबादी स्थित दशहरा मैदान पर हर्षोल्लास के साथ हजारों की संख्या में विशाल जनसमुदाय की उपस्थिति में मनाया गया। आमजनो मे कोविड-19 संक्रमण आस्था के आगे फीका नजर आया।


श्री राम सीता की झांकी-


श्री कृष्ण मित्र मंडल के तत्वधान में आकर्षक एवं मनमोहक श्री राम सीता लक्ष्मण हनुमान की आकर्षक झांकी बनाई गई एवं प्रभु श्री राम की झांकी के साथ नगर वासी दशहरा मैदान पहुंचे वही श्री राम जी की सेना चली श्री राम जी की सेना चली मधुर भजनों के साथ नगर भक्ति में हो गया।


आतिशबाजी की-


नगर परिषद के द्वारा दशहरा मैदान पर विभिन्न प्रकार की अनेकों आतिशबाजी कर दशहरे को यादगार बनाया, दशहरा मैदान पर आतिशबाजी से आसमान सतरंगी हो गया। आतिशबाजी जहां बड़ों के साथ बच्चों को खूब रात आई।


रावण के पुतले का दहन-


आतिशबाजी एवं स्वागत सम्मान के उपरांत नगर परिषद द्वारा बनाए गए बुराई के प्रतीक रावण का पुतला बाल हनुमान द्वारा जलाया गया देखते ही देखते रावण का पुतला धू-धूकर जलकर राख हो गया एवं दशहरा मैदान जय जय श्रीराम की नारों से गुंजायमान हो उठा।


एक दूसरे को दी बधाइयां-


रावण दहन के उपरांत छोटो ने जहां बड़ों के चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लिया वही गिले-शिकवे भुलाते हुए एक दूसरे को बधाइयां दी गई बधाईयो का दौर देर रात तक चलता रहा जो सोमवार बासी दशहरे पर भी जारी रहेगा।


प्रशासन रहा अलर्ट-


दशहरा महापर्व एवं हजारों की जनसंख्या में विशाल जनसमुदाय को ध्यान में रखते हुए थाना प्रभारी राजीव कुमार उईके ने कमान संभाली एवं पुलिस टीम को तैनात करते हुए व्यवस्थाएं दुरुस्त की वहीं वाहन पार्किंग कृषि उपज मंडी को बनाया एवं चार पहिया एवं दोपहिया वाहनों को पार्किंग में खड़ा करवाया मंडी गेट पर पुलिस कर्मियों को वाहन पार्किंग के समय काफी जद्दोजहद करनी पड़ी। वही तहसीलदार एवं प्रशासक ओशिन विक्टर व मुख्य नगरपालिका अधिकारी चिंतामण व्यास के साथ अन्य कर्मचारीयो ने व्यवस्था सम्भाली।


यहां भी हुआ रावण दहन-


नगर के ग्राम निशानियां बड़ी खेड़ी एवं अन्य वार्ड के कई मोहल्लों में छोटे बड़े रावण बनाकर जलाए गए वहीं ग्रामीण क्षेत्रों के ग्राम के ग्रामीणों द्वारा हर्षोल्लास के साथ दशहरा मनाते हुए बुराई के प्रतीक रावण के पुतले का दहन किया गया एवं एक- दूसरे को बधाइयां दी गयी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: