Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

अंबेडकरनगर। लगभग आठ महीने के लंबे इंतजार के बाद सोमवार से जिले के विभिन्न क्षेत्रों में स्थापित 373 इंटर कॉलेज एक बार फिर से गुलजार होंगे। कोरोना संकट अभी पूरी तरह टला नहीं है इसलिए कॉलेजों में आने वाले छात्र-छात्राओं को सुरक्षित रखने के लिए रविवार को सभी जरूरी तैयारियां पूरी कर ली गईं। विद्यालयों को सैनिटाइज किया गया। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग के लिए गोला भी बनाया गया।

 


कोविड प्रोटोकॉल के तहत शिक्षण कार्य के लिए विद्यालय में प्रवेश करने वाले छात्र-छात्राओं की न सिर्फ थर्मल स्कैनिंग की जाएगी बल्कि उन्हें सैनिटाइज भी किया जाएगा। इसे लेकर सभी विद्यालयों में तैयारियां पूरी कर ली गईं।

इस बीच विद्यालय के संचालन के लिए ज्यादातर विद्यालयों को 80 प्रतिशत अभिभावकों का सहमति पत्र भी प्राप्त हो गया। उधर कोविड प्रोटोकॉल के तहत विद्यालयों में शिक्षण कार्य किया जा रहा है या नहीं, इसके लिए डीएम के निर्देश पर नौ टीमों का गठन किया गया है जो विद्यालयों का औचक निरीक्षण करेंगी।


कोरोना संकट के चलते बीते 15 मार्च को सभी विद्यालयों को बंद कर दिया गया था। अब अनलॉक-पांच में विभिन्न शर्तों के साथ कक्षा 9 से 12 तक की कक्षाओं को संचालित करने की अनुमति प्रदान की गई है। शासन के निर्देशानुसार विद्यालयों को संचालित करने के लिए एक दिन पहले ही सभी विद्यालयों ने जरूरी तैयारियां पूरी करने का दावा किया। संबंधित विद्यालयों के प्रबंधक व प्रधानाचार्यों ने सभी जरूरी तैयारियां पूरी कर लेने का दावा किया।

अकबरपुर नगर के तमसा मार्ग स्थित डॉ. अशोक स्मारक इंटर कॉलेज के प्रबंधक अभिनव वर्मा ने बताया कि विद्यालय में 800 छात्र-छात्राएं हैं। इनमें से 300 अभिभावकों का सहमति पत्र मिला है। कहा कि सुबह आठ बजकर 50 मिनट से 11 बजकर 50 मिनट तक तक कक्षाएं चलेंगी। एक घंटे के ब्रेक के दौरान सभी कक्षों को सैनिटाइज किया जाएगा। इसके बाद 12 बजकर 50 मिनट से तीन बजकर 50 मिनट तक कक्षा 11 व 12 के छात्र-छात्राओं को शिक्षा दी जाएगी।


कहा गया कि उस कक्षा में कक्षा 11 व 12 के छात्र-छात्राएं नहीं बैठेंगे, जिसमें कक्षा नौ व दस के छात्र-छात्राएं बैठे थे। मां ब्रह्मदेवी रमाशंकर स्मारक इंटर कॉलेज, अकबरपुर के प्रबंधक चंद्रदेव पाण्डेय ने बताया कि विद्यालय में 600 छात्र-छात्राएं हैं। 400 अभिभावकों का सहमति पत्र मिल चुका है।

उन्होंने बताया कि डीआईओएस के निर्देशानुसार दो पालियों में पढ़ाई का कार्य होगा। पहली पाली में कक्षा नौ व 10 और दूसरी पॉली में 11 व 12 के छात्र-छात्राओं को शिक्षा दी जाएगी।


रामलौट श्यामादेवी इंटर कॉलेज दहीरपुर के प्रबंधक राजेंद्र वर्मा ने बताया कि 750 में 270 अभिभावकों की सहमति मिली है। रविवार को सभी कक्ष व परिसर को सैनिटाइज किया गया है। कहा कि विद्यालय में प्रवेश करने से पूर्व छात्र-छात्राओं व शिक्षक शिक्षिकाओं की न सिर्फ थर्मल स्कैनिंग होगी बल्कि उन्हें सैनिटाइज भी किया जाएगा।

गांधी स्मारक इंटर कॉलेज राजेसुल्तानपुर के प्रधानाचार्य कप्तान सिंह ने बताया कि कक्षा नौ से 12 तक के छात्र-छात्राओं की संख्या 1550 है। इसमें से 500 अभिभावकों की सहमति पत्र मिला।


प्रशासन के दिशा निर्देश के अनुसार दो पालियों में कक्षाएं संचालित होंगी। पहली पाली 8.50 से 11.50 तथा दूसरी पाली 12.50 से 3.50 होगा। बताया कि विद्यालय को समय समय पर सैनिटाइज किया जाता रहेगा।

आरपीपीएस इंटर कॉलेज मामपुर नरियांव के संरक्षक अमित वर्मा ने बताया कि 700 छात्र-छात्राओं के सापेक्ष 350 अभिभावकों की सहमति पत्र मिल गया है। रविवार को पूरे विद्यालय को सैनिटाइज किया जा चुका है। मुख्य गेट पर सैनिटाइजेशन मशीन के साथ ही थर्मल स्कैनिंग की भी व्यवस्था रहेगी। सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए कक्षाओं का संचालन किया जाएगा।


19 अक्टूबर से खुल रहे इंटर कॉलेजों में शिक्षा ग्रहण करने के लिए आने वाले छात्र-छात्राओं को किसी प्रकार की समस्या न हो, इसके लिए जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र के निर्देश पर नौ टीमें गठित की गईं हैं। ये टीमें अपने-अपने विकास खंड में स्थित इंटर कॉलेजों का समय-समय पर निरीक्षण करती रहेंगी।

डीआईओएस विनोद सिंह ने बताया कि अकबरपुर विकास खंड की जिम्मेदारी डॉ. तारा वर्मा, टांडा की जिम्मेदारी प्रमिला वर्मा, बसखारी की जिम्मेदारी सुमित्रा देवी, रामनगर की जिम्मेदारी अनुपमा उपाध्याय, जहांगीरगंज की जिम्मेदारी विद्यावती, कटेहरी की जिम्मेदारी स्नेहलता, भीटी की जिम्मेदारी रंजना, जलालपुर की जिम्मेदारी शकुंतला देवी व भियांव विकास खंड की जिम्मेदारी मीरा वर्मा को दी गई है। उन्हें निर्देशित किया गया है कि संबंधित कॉलेजों का औचक निरीक्षण कर इस बात को सुनिश्चित करें कि शिक्षण कार्य के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का पालन किया जा रहा है या नहीं।


शासन के निर्देशानुसार विद्यालयों का संचालन दो पालियों में होगा। पहली पाली सुबह 8.50 से 11.50 व दूसरी पॉली 12.50 से 3.50 तक होगी। पहली पाली में कक्षा नौ व 10 व दूसरी पॉली में कक्षा 11 व 12 की कक्षाएं संचालित होंगी। सभी विद्यालयों के प्रबंधक व प्रधानाचार्यों को निर्देशित किया गया है कि वे प्रति दिन विद्यालय को सैनिटाइज कराएं। विद्यालय गेट पर सैनिटाइजेशन व थर्मल स्कैनिंग की भी व्यवस्था के निर्देश हैं। इसमें लापरवाही पाई गई तो संबंधित विद्यालय के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।


विकाश कुमार निषाद की रिपोर्ट

Leave a Reply

%d bloggers like this: