Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

 

अवैध कच्ची शराब के सेवन से लगभग 14 से अधिक लोगों की मृत्यु हो गई

आशुतोष गोस्वामी को शुक्रवार को अवैध शराब माफियाओं कें खिलाफ मौदान में आना पडा।

नागदा जं. निप्र। नागदा एवं आसपास के क्षेत्रों में बडी मात्रा में बेची जा रही अवैध शराब की धरपकड के लिए अब अनुविभागीय अधिकारी तक को मैदान में आना पडा है। गौरतलब है कि उज्जैन में अवैध कच्ची शराब के सेवन से लगभग 14 से अधिक लोगों की मृत्यु हो गई है। उसके बाद से ही पुरे जिले में अवैध शराब की धरपकड हेतु वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में अभियान छेड दिया गया है।

यहाॅं यह भी उल्लेखनिय है कि आबकारी विभाग एवं स्थानिय पुलिस की जानकारी में शासकीय दुकानों के अलावा डायरी प्रथा के माध्यम से क्षेत्र के लगभग प्रत्येक ग्राम एवं शहर के हर मोहल्ले में अवैध तरीके से शराब की दुकानों का संचालन हो रहा है। चुंकि इस साल शराब का मुल्य अत्यधिक होने के कारण सरकारी शराब की आड में अनेकों स्थान पर अवैध रूप से हाथ से बनाई हुई कच्ची शराब का विक्रय किया जा रहा है। जिसके चलते ही इस प्रकार की घटनाऐं हो रही है।


उज्जैन की घटना के बाद अलर्ट पर प्रशासन

उज्जैन में कच्ची शराब झिंझर का सेवन करने से 14 से अधिक लोगों की मौत हो जाने के बाद स्थानिय प्रशासन भी अलर्ट मोड पर आ गया है। क्षेत्र में आबकारी एवं पुलिस प्रशासन की असहजता के चलते अनुविभागीय अधिकारी आशुतोष गोस्वामी को शुक्रवार को अवैध शराब माफियाओं कें खिलाफ मौदान में आना पडा।

एसडीएम ने कार्रवाई के दौरान 10 लीटर कच्ची शराब महिदपुर नाका स्थित पाडल्यांकला से बरामद की है। यह विचारणीय प्रश्न है कि इतनी बडी घटना होने के बाद भी शहर में कच्ची शराब धडल्ले से बिक रही थी जिसे न तो आबकारी विभाग पकड सका और ना ही पुलिस।

एसडीएम ने विभिन्न जगहों पर छापामार कार्यवाही की जिसमें बलराम उर्फ नंदू पिता गंगाराम उम्र 46 साल निवासी महिदपुर नाका पलिया कला से 10 लीटर कच्ची अवैध शराब बरामद की गई। कार्रवाई के दौरान सीएसपी मनोज रत्नाकर एवं डायल 100 का स्टाफ मौजुद था।


आस-पास के गांवों में बनती है अवैध कच्ची शराब


कच्ची शराब के संबंध में सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रतिदिन नागदा के समीपस्थ ग्राम भडला से 10 से 20 लीटर अवैध कच्ची शराब लाई जाती है तथा उसे नागदा एवं आसपास के क्षेत्रों में खपा दिया जाता है।

भडला में भी एक अन्य स्थान से ग्रामीण युवकों को शराब उपलब्ध करवाई जाती है। शराब के पैसे के लिए ग्राम भडला के युवकों ने चोरी की वारदातों को भी अंजाम दिया है। पिछले दिनों नागदा एवं महिदपुर रोड के बीच राहगिरों से हजारों की लूट भी शराब के सेवन हेतु ही की गई थी। इतना ही नहीं अवैध शराब खपत की जानकारी नागदा थाने में भी दी गई लेकिन आज दिनांक तक कोई कार्रवाई नहीं की गई।

डायरी प्रथा के नाम पर अवैध शराब का विक्रय धडल्ले से


मामले में यह भी जानकारी मिली है कि अवैध शराब के परिवहन एवं विक्रय में लायसेंसधारी शराब विक्रेता का भी बडा योगदान सामने आया है। बताया जाता है कि लायसेंसी ठेकेदार द्वारा डायरी प्रथा के नाम पर प्रत्येक गांव एवं शहर के मोहल्लों में जगह-जगह अवैध शराब विक्रय की जा रही है जिन्हें न तो आबकारी विभाग का अमला पकडता है और ना ही पुलिस।

बताया जाता है कि वर्तमान में शराब के मुल्य अत्यधिक होने के कारण डायरीधारक ठेकेदार के अलावा भी आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में बनी अवैध कच्ची एवं सस्ती शराब का भी बखुबी विक्रय करते हैं तथा सरकारी शराब के समान ही दाम वसुल कर मोटा मुनाफा कमाते हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: