Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

गेंदे के फूलों ने विष्णुपद मंदिर की अलौकिक छटा बिखेरी

दीपदान से होता है पितरों का मार्ग आलोकित

गया। पितृपक्ष के 14 वे दिन त्रयोदशी तिथि को यानी शुक्रवार की देर शाम पवित्र फल्गु नदी के तट पर स्थित देव घाट पर पितरों की याद में पितृ दीपावली हर्षोल्लास के साथ मनाई गई। फल्गु नदी का देवघाट लाखों दीपक की रोशनी से नहा उठा। इस मौके पर विष्णुपद मंदिर को हैदराबाद के डाककोतिया परिवार द्वारा 4000 किलो गेंदा के फूलों से आकर्षक ढंग से सजाया संवारा गया। पूरा फल्गु तट का किनारा दीपक की रोशनी से जगमग हो गया जो देखने में आकर्षक लग रहा था।

असंख्य दीपक के साथ टिमटिमाते रोशनी में महिलाएं थिरक उठे। त्रिपक्षीय गया श्राद्ध करने वाले पिंड दानी अपने पितरों के निमित्त फल्गु नदी में दीपदान कर उनके प्रकाश को आलोकित किया। गया पाल पंडा ऋषिकेश गुर्दा के अनुसार त्रयोदशी तिथि को दीपदान का बड़ा महत्व है। कहते हैं कि इस दिन पितरो को प्रकाश मिलता है। पितरों की प्रसन्नता से देवता प्रसन्न होते हैं।जीवन में प्रकाश ही प्रकाश फैलता है। पितृ दीपावली को लेकर विष्णुपद मंदिर की अलौकिक छटा विखेर रही थी।

देश-विदेश के लाखों तीर्थयात्री विष्णुपद मंदिर के आसपास अपने पितरों की यादों में दीप प्रज्वलित कर भगवान विष्णु के चरण पर तुलसी पत्र अर्पित कर विशेष पूजा अर्चना की। पितृ दीपावली एवं विष्णुपद मंदिर के भव्य श्रृंगार को एक नजर देखने के लिए डीएम डॉ त्यागराजन एक्शन एवं एसएसपी हरप्रीत कौर मंदिर प्रांगण पहुंची। जहां उन्होंने सुरक्षा व्यवस्था का भी जायजा लिया। मंदिर प्रांगण में दर्शन के लिए तीर्थ यात्रियों का हुजूम उमड़ पड़ा। तीर्थयात्री कतारबद्ध गर्भगृह में प्रवेश कर रहे थे।

Leave a Reply

You missed

%d bloggers like this: