Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

सुसनेर से यूनुस खान लाला की रिपोर्ट चिरंतन न्यूज़ के लिए अधिक मास के कारण इस बार देरी से शुरू होने वाले नवरात्रि महोत्सव के लिए नगर की कुम्हार गली में मूर्ति कारों के द्वारा मां दुर्गा की प्रतिमाएं तैयार की जा रही है । यहां पर मूर्तिकार कैलाश चौहान का पूरा परिवार माता रानी की प्रतिमाओं को अंतिम रूप देने में जुटा है । मूर्तिकार दीपक चौहान के अनुसार कोरोनावायरस के चलते गणेश उत्सव में प्रतिमाओं नहीं बिक पाई।इस नवरात्रि से ही अपनी आस लगाए बैठे हैं । कोरोना के चलते हुए नुकसान के कारण इस बार माता रानी की मूर्तियों के दाम भी बढ़ा गए हैं ।हालांकि इस वर्ष शारदीय नवरात्र 17 अक्टूबर से शुरू होंगे । लेकिन मूर्ति कारों द्वारा अपनी आस्था को अंतिम रूप दिए जाने का कार्य जोर शोर से किया जा रहा है । मूर्तिकार अपनी मेहनत से मूर्ति को अंतिम रूप देने में जुटे हैं मानो मूर्ति ना होकर साक्षात देवी हो। 

20 वर्षों से बना रहे हैं प्रतिमाएं पहली बार देखी ऐसी तंगी —नगर के कुम्हार गली में कैलाश मूर्तिकार करीब 20 वर्षों से मां दुर्गा की प्रतिमाएं बना रहे हैं । लेकिन कोरोना के कारण पहली बार ऐसी तंगी देखने को मिली है। गणेश उत्सव में भी शासन ने बड़े पंडालों में गणेश प्रतिमाएं स्थापित करने से मना कर दिया था । इस वजह से प्रतिमाएं नहीं बिकी और काफी नुकसान हुआ। इस वर्ष भी 2020 में कैलाश के परिवार की तीसरी पीढ़ी भी मूर्तियां बनाने का कार्य कर रही है। घर का हर सदस्य मूर्ति बनाने का कार्य कर रहे हैं। राजस्थान में भी रहती है इन प्रतिमाओं की मांग — विरासत में मिली इस कला से नगर के मूर्तिकार कैलाश प्रतिमाओं को अंतिम रूप देने में जुटे हैं जैसे तैसे  शारदीय नवरात्रि का पर्व नजदीक आता जा रहा है । वैसे ही इनके हाथों से बनाए जाने वाली प्रतिमाओं की डिमांड भी बढ़ती जा रही है । यही कारण है कि सुसनेर में बनाई जा रही दुर्गा प्रतिमाओं की मांग मध्यप्रदेश और राजस्थान के साथ वैष्णो देवी तक रहती है ।  नगर के कुम्हार गली में रहने वाले कैलाश मूर्तिकार ने अपने बेटे दीपक चौहान और अजय चौहान के हाथों में ऐसा हुनर थमा दिया है। जिससे उनके परिवार का भरण पोषण चलता रहता है।

 इनके पास हर वैरायटी की प्रतिमाएं मौजूद है —

-आने वाली 17 अक्टूबर को शहर के इन प्रतिमाओं से ही नव दुर्गा उत्सव समितियों के द्वारा विधि विधान के शुभ मुहूर्त पर घट स्थापना की जाकर 9 दिनों तक भक्तों द्वारा माता रानी की आराधना की जाएगी । 

इस वर्ष बनाई है बंगाली प्रतिमाएं —

अपने हुनर के चलते इस वर्ष दीपक चौहान ने बंगाली स्टाइल में फेमस दुर्गा प्रतिमाओं का निर्माण किया है । जिसे शहर समेत मध्य प्रदेश और राजस्थान के जिलों में इनकी मांग की जा रही है ।दीपक ने बताया कि एक भक्त ऐसा भी है जो पिछले 5 वर्षों से वैष्णो देवी तक यहां पर प्रतिमाएं ले जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *