मुंह से मास्क हटाकर कार्रवाई करता कर्मचारी, घेरे में।

शाजापुर। प्रशासन की टीम ने बिना मास्क के घूम रहे लोगों पर चालानी कार्रवाई के नाम पर एक बार फिर नौटंकी दिखाई। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के उद्देश्य से घरों से बाहर निकलने पर मास्क लगाना अनिवार्य किया गया है, लेकिन अब भी कई लोग बिना मास्क के सडक़ों पर यहां-वहां घूमते नजर आ रहे हैं। ऐसे ही लोगों पर चालानी कार्रवाई करने के लिए एसडीएम साहबलाल सोलंकी, सीएमओ भूपेंद्र के नेतृत्व में कर्मचारियों की टीम गुरुवार शाम को ट्राफिक पाइंट पहुंची और बिना मास्क के घूम रहे लोगों के चालान बनाए। लोगों को चालान के डर से मास्क पहनने के लिए प्रेरित करने हेतु की गई यह कार्रवाई नौटंकी साबित हुई, क्योंकि बिना मास्क के घूम रहे लोगों पर जो कर्मचारी चालानी कार्रवाई कर रहे थे उनके स्वयं के मास्क नाक से नीचे हटे हुए थे। ऐसे में कार्रवाई का दंश झेलने वाले लोगों ने दबी जबान में कहा कि कर्मचारियों को पहले स्वयं नियमों का पालन करना चाहिए उसके बाद लोगों पर रौब दिखाना चाहिए। उल्लेखनीय है कि एसडीएम सोलंकी के मार्गदर्शन में पहले भी शहर के दुकानदारों पर सोशल डिस्टेंस का पालन कराने के लिए कार्रवाई के नाम पर जमकर नौटंकी की गई थी। वहीं एक बार फिर कोरोना गाईड लाइन की धज्जियां उड़ाते हुए कर्मचारियों ने कार्रवाई करना शुरू कर दिया।


कक्ष में बैठे रहे अधिकारी


कार्रवाई के नाम पर नौटंकी करने पहुंचे एसडीएम सोलंकी और नपा के अधिकारी ट्राफिक थाने के कक्ष में गप्पे लड़ाने के लिए जा बैठे। अधिकारी अपनी बातों में मगन हो गए, जबकि उनके अधीनस्थ कर्मचारी नियमों को धता बताते हुए बिना मास्क वाले लोगों के चालान बनाने लगे। अपना खुद का मास्क मुंह से हटाकर कार्रवाई करने वाले कर्मचारियों ने लोगों से चालान शुल्क के लिए 100 रुपए का जुर्माना वसूला। वहीं कुछ लोगों को 20 रुपए का मास्क देते हुए समझाईश देकर आईंदा मास्क पहनने के लिए प्रेरित किया।


इनका कहना है


ट्राफिक पाइंट से बिना मास्क लगाए निकल रहे लोगों पर चालानी कार्रवाई की गई। वहीं कार्रवाई के दौरान यदि किसी कर्मचारी ने अपने मुंह से मास्क हटाया होगा तो उसे सीसीटीवी में देखेंगे और उसके खिलाफ कार्रवाई करेंगे।

साहबलाल सोलंकी, एसडीएम शाजापुर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *