Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644
नौकरी के नाम पर 4 लाख रुपए ठग लिए

सरगुजा। IG रतन लाल डांगी ने जब से अपने विभाग और आम लोगों के लिए अपना सरकारी मोबाइल नंबर सार्वजनिक किया है। तबसे विभाग से, जरूरतमंदों और आम लोगों की परेशानियाँं चुटकियों में दूर हो रही है।

कुछ इसी प्रकार से सूरजपुर थाना अंतर्गत श्रीमती साधना जायसवाल पति गणेश उम्र 35, शिवप्रसाद नगर जिला सूरजपुर के साथ तीन आरोपियों ने नौकरी दिलाने के नाम पर 400000 की ठगी कर ली थी और नौकरी भी नहीं लगाई और न ही पैसे वापस कर रहे थे एवम् पुलिस ने भी शिकायत लेने के बाद कोई भी कार्यवाही नहीं की। सबसे परेशान होकर पीडि़ता ने इसकी जानकारी सरगुजा रेंज के संवेदनशील IG रतन लाल डांगी को फोन पर पूरी जानकारी दी। IG ने थाना में को गई शिकायत को व्हाट्सएप पर भेजने बोला।

जैसे ही शिकायत मिली फौरन ही पुलिस अधीक्षक को थाना प्रभारी को FIR दर्ज करके रिपोर्ट करने बोला। तत्काल FIR दर्ज की गई और इसकी कॉपी पीडि़ता को व्हाट्सएप पर ही भेज दी। जिसके बाद अब पीडि़ता को न्याय मिलने की उम्मीद जाग चुकी है।


इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार स्वास्थ्य विभाग में भृत्य के पद हेतु विज्ञापन प्रकाशित हुआ था। विज्ञापन के अनुसार पीडि़ता साधना जायसवाल ने फार्म भरकर जागीर सिंह पिता बुर्षभान सिंह निवासी ग्राम कुसमुसी, चौकी बसदेई थाना सूरजपुर को फार्म को जमा करने के लिए दिया। फार्म भरने के बाद जागीर सिंह और रवि पिता श्याम दास बघेल दोनों ने कहा कि अगर कुछ खर्च करोगे तो हम लोग तुम्हारी नौकरी लगवा सकते हैं। मैं अपनी पत्नी यमुना सिंह की भी नौकरी लगवाया हूंँ।

आरोपी जागीर की पत्नी यमुना सिंह ने बताया कि, अगर तुम पैसा खर्चा करोगी तो तुम्हारी नौकरी भी मेरे पति लगवा देंगे, उनकी अच्छी सेटिंग सीएमओ वैश्य से है।


इसके बाद लगातार जागिर और रवि पीडि़ता श्रीमती साधना जायसवाल के घर आया करते थे और नौकरी लगवाने के नाम पर चार लाख रूपए की मांँग करते थे।

पीडि़ता पैसे व्यवस्था करने की बात कहती रहती थी जब विभाग में नियुक्ति होने लगी, तब आरोपी जागीर और रवि पुन: आवेदिका के घर आए और कहे कि तुम कल पैसा लेकर कलेक्टर आफिस में आओ, नियुक्ति की बातचीत CHO से हो गयी है।

तब आवेदिका 4 दिसम्बर 2018 को उसकी बातों पर विश्वास कर चार लाख रूपए लेकर सूरजपर कलेक्टर ऑफिस के पास मौजूद जागिर सिंह को पैसे दी। उस वक्त यमुना सिंह और रवि तीनों लोग मौजूद थे। जिस वक्त कलेक्टर आफिस के अंदर पीडि़ता साधना जायसवाल के पति गणेश ने इसका वीडियो छिप कर बना लिया।

इसके बाद जब पीडि़ता की जॉब नहीं लगी तो उसने आरोपियों से पैसे की मांँग की। तब आरोपीगण पैसे देने में आनाकानी करने लगे। परेशान पीडि़ता ने इसकी शिकायत सूरजपुर थाने में दर्ज कराई। जब काफी दिनों तक कार्रवाई नहीं हुई तो इसकी जानकारी कल दोपहर में व्हाट्सएप के माध्यम से सरगुजा रेंज के IG रतन लाल डांगी को दी जिसके बाद ही यह कार्रवाई संभव हो सकी।

Leave a Reply