Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644


धार 5 सितम्बर 2020।कृषि विज्ञान केन्द्र धार में वेबिनार सह प्रषिक्षण एवं जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन शनिवार को सांसद छतरसिंह दरबार एवं कलेक्टर अलोक कुमार सिंह की अध्यक्षता में किया गया। कार्यक्रम में आत्म निर्भर भारत योजना अन्तर्गत पायलट प्रोजेक्ट सीताफल पौधा रोपण एवं प्रसंस्करण पर चर्चा की गई। कलेक्टर श्री सिंह ने कार्यक्रम में सीताफल पौधा रोपण हेतू मनरेगा एवं अन्य योजनाओ से समन्वय कर पौध रोपण के कार्य करने के निर्देश दिय। उन्होने उपस्थित प्रगतिषील किसानों से जैविक खेती को अधिक मात्रा में अपनाने की बात कही ।

साथ ही उन्होने रासायनिक खाद का उपयोग कम से कम करने तथा जैविक खाद का उपयोग करने करने के लिए कहा। उन्होने बताया कि रासायनिक खाद के उपयोग से उपजाव जमीन की उत्पादन क्षमता शीघ्र कम होती जाती है। अब समय आ गया है कि इस उत्पादन क्षमता कम करने वाली खाद को छोड ज्यादा उत्पादन को बढावा देने वाली जैविक खेती को अपनाया जाए। इस अवसर पर सांसद श्री दरबार तथा कलेक्टर श्री सिंह ने कृषि विज्ञान केंद्र परिसर में वृक्षारोपण भी किया। इस अवसर पर संबंधित अधिकारी तथा प्रगतिषील किसान उपस्थित थे।

पोषण अभियान अंतर्गत समीक्षा बैठक सम्पन्न
      धार पाॅच सितम्बर 2020/ शनिवार को जिला पंचायत सभागार में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत संतोष वर्मा की अध्यक्षता में पोषण अभियान अंतर्गत समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में पोषण अभियान के उददेष्य पर प्रकाष डालते हुए ठिगनेपन से बचाव एवं इसमे कमी लाने, बच्चों को अल्प पोषण से बचाव , बच्चों में एनीमिया के प्रसार में कमी लाने, गर्भवती एवं धात्री माताओं में एनीनिमया, कम वनज के साथ जन्म लेने वाले बच्चों की संख्या में कमी लाने के लिए विस्तार से चर्चा की गई। बैठक में श्री वर्मा ने निर्देष दिए कि मातृ मृत्यु, षिषु मृत्यु दर कम करने के लिए ग्राम स्तर पर कार्ययोजना तैयार की जाए। साथ ही दूरस्त क्षेत्रों में भी संस्थागत प्रसव को बढावा दिया जाए जिससे मृत्यु दर मंे कमी आ सके।

कुपोषित बच्चो के लिए ऐसे क्षेत्र का चयन किया जाए जहाॅ इसे प्रकरण अधिक है वहाॅ पर कार्ययोजना तैयार कर कार्य किया जाए। ग्रामीण क्षेत्र में जन्म के बाद घुटटी या अन्य पदार्थ नहीं देने की समझाईष, जन्म के तुरंत बाद माॅ का पहला गाढ़ा दूध पिलाने को प्रेरित  किया जाए।
   बैठक में श्री वर्मा ने सभी सीडीपीओ को निर्देष दिए की आगामी 25 दिनों में वे अपने क्षेत्र में पोषण वाटिका के लिए 10-10 स्थल का चयन किया जाए। इस बैठक मे अपर कलेक्टर एसएस सोलंकी, समस्त सीडीपीओं मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *