Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644
धरना प्रदर्शन करते किसान।
इसे भी पढ़े : नागदा-खाचरौद में 142 करोड की बीमा राशि स्वीकृत, जल्द पहुॅचेगी कृषकों के बैंक खातों में


शाजापुर। राजस्व विभाग के जिम्मेदारों की उदासीनता और लापरवाही के कारण बीते साल फसल में हुए नुकसान की बीमा सूची में दर्जनों गांव के किसानों का नाम शामिल नही किया जा सका। जिम्मेदारों की इसी कार्यशैली से नाराज किसानों का आक्रोश फूट पड़ा और उन्होने ग्राम दुपाड़ा में शाजापुर-आगर मार्ग पर चक्का जाम कर दिया। करीब चार घंटे से अधिक समय तक किसान अधिकारियों की लापरवाही के खिलाफ मार्ग पर डटे रहे। शाजापुर जिला मुख्यालय से करीब 16 किमी दूर ग्राम दुपाड़ा में आगर-मालवा मार्ग पर गुरुवार को दुपाड़ा क्षेत्र के करीब 12 गांव के किसानों ने जाम लगा दिया। किसानों का आरोप था कि शाजापुर राजस्व विभाग की लापरवाही के कारण दुपाड़ा क्षेत्र के 12 गांवों के किसानों को 2019 में अतिवृष्टि के कारण सोयाबीन की फसल खराब होने पर भी फसल बीमा में शामिल नही किया गया है। किसानों ने बताया कि वर्ष 2019 में फसलों में हुए नुकसान की 6 सितंबर को पूरे प्रदेश की फसल बीमा राशि सीएम क्लिक करके किसानों के खाते में डालेंगे, लेकिन दुपाड़ा क्षेत्र के पटवारी हल्का नंबर 4 के किसानों का नाम बीमा सूची में शामिल ही नही किया गया है जिसके कारण किसानों को बीमा का लाभ नही मिल सकेगा। किसानों ने बताया कि राजस्व विभाग की इसी गलती को लेकर प्रदर्र्शन किया गया है। इधर किसानों के आक्रोशित होकर जाम लगा दिए जाने की सूचना मिलने पर एसडीएम शाजापुर साहबलाल सोलंकी सहित प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंचा और करीब 4 घंटे की मशक्कत के बाद किसानों को आश्वस्त कर प्रदर्शन शांत कराया।


राजस्व विभाग को ठहराया जिम्मेदार


गौरतलब है कि दुपाड़ा क्षेत्र के पटवारी हल्का नंबर 4 के करीब 12 गांव के हजारों किसानों का राजस्व विभाग की गलती के कारण वर्ष 2019 फसल बीमा में नाम शामिल नही किया जा सका। किसानों का आरोप है कि राजस्व विभाग की लापरवाही के कारण फसल बीमा की सूची में गांव के किसानों का नाम नही जोड़ा गया है जिसके कारण फसल में नुकसान होने के बाद भी किसानों को बीमा क्लेम नही मिल सकेगा। राजस्व विभाग की इसी गलती के विरोध और बीमा सूची में नाम शामिल किए जाने की मांग को लेकर दुपाड़ा में करीब 4 घंटे तक किसानों ने चक्का जाम रखा। किसानों को एसडीएम ने आश्वस्त किया कि उनका नाम बीमा सूची में जोड़ दिया जाएगा और सभी किसानों को बीमा क्लेम भी मिलेगा, जिसके बाद किसान शांत हुए आंदोलन समाप्त किया। किसानों ने बताया कि यदि 2019 की फसल बीमा सूची में क्षेत्र के किसानों को शामिल नही किया गया तो दोबारा से आंदोलन किया जाएगा।

Leave a Reply