Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644
22वें मुख्यमंत्री के रूप मे जब योगी आदित्यनाथ ने, 19 मार्च 2017 को कार्यभार सम्हाला तो लोगों के मन मे अनेकों प्रश्न थे |

भाजपा मे कई कद्दावर व्यक्तित्व के रहते हुये, सबसे अधिक आबादी वाले प्रदेश के नेतृत्व करने की जिम्मेदारी मिलने के पश्चात से उनकी राहें आसान नहीं रही है | अपने सशक्त नेतृत्व क्षमता, विषय-वस्तु की गहरी जानकारी, त्वरित सटीक निर्णय लेने की आदत, टीम भावना, जनता के हितो की प्राथमिकता ने विगत 4 वर्षो मे, उन्हे लोगों के लिए बेहद खास मुख्यमंत्री बना दिया है | जातिवाद, धर्मवाद, क्षेत्रवाद, दंगा, बाहुबली लोगों के वर्चस्व के बीच प्रदेश के विकास की नीव का निर्माण करने मे न केवल सफल रहें है, बल्कि अपने कार्यो से देश, विदेश तक के अनेकों लोगों / संगठनों / को नेतृत्व से प्रभावित किया है |

इसे भी पढ़े : रंगपंचमी पर महाकाल की गेर नहीं निकलेंगी

स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने कई अवसरों पर योगी आदित्यनाथ की तारीफ की है | योगी ने कोरोना काल मे जिस सिद्द्त से स्वयं कमान सम्हाले रखा है परिणाम आज सबके सामने है सर्वाधिक आबादी होने के पश्चात कोरोना के दुष्प्रभाव से आज भी प्रदेश सुरक्षित है | तेजी से कार्य करने का ही नतीजा है की दुश्मन देश पाकिस्तान ने भी खुले मन से तारीफ किया है | विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व की सराहना की है | एक तरफ जहाँ ढ़ेरो उपलब्धियाँ है वही हाथरस की घटना को लेकर कुछ लोगो द्वारा छवि बिगाड़ने की भरपूर कोशिश भी की गयी, जिसमे कई राजनैतिक पार्टियाँ और संगठनो ने भी बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया | योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल के 4 वर्ष पूरे हो गए है ऐसे मे विकास और नेतृत्व की वास्तविक उपलब्धि की चर्चा जन मानस मे होना शुरू हो गया है | विपक्षी पार्टियाँ जहाँ आलोचना कर रही है वही आम आदमी पार्टी का प्रदेश मे चुनावी रणनीति बनाना कई राजनैतिक समीकरण को हवा दे रहा है | ऐसे मे उपलब्धि की बात होना आवश्यक हो जाता है जिससे सीधे आम जनता का हित जुड़ा हुआ है |


किसानों के लिए – विगत 4 वर्षो मे गन्ना किसानों को 1.25 लाख करोड़ का भुगतान | 86 लाख किसानों का कुल 36,000 करोड़ के ऋण की माफी | किसान सम्मान निधि के अंतर्गत 2.42 करोड़ किसानों के बैंक खाते मे 27,134 करोड़ का हस्तांतरण | 378 लाख मीट्रिक टन खाधान्न की खरीद कर 66,000 करोड़ का भुगतान | फसल बीमा मे किसानों को 1910 करोड़ की क्षतिपूर्ति | 3 लाख 58 हजार करोड़ का फसल ऋण | 20 से अधिक चीनी मिलों का आधुनिकीकरण और विस्तारिकरण | 46 वर्षो से लंबित बाण सागर परियोजना पूरा होना जैसे अति महत्वपूर्ण कार्य हुये है |


आवास – 40 लाख से अधिक लोगों के लिए प्रधान मंत्री आवास, 72 हजार से अधिक मुख्यमंत्री आवास | 10 करोड़ से अधिक लोगों को लाभान्वित करते हुये 2.61 करोड़ शौचालयों का निर्माण करके प्रदेश को खुले में शौच से मुक्त करना | 1.47 करोड़ लोगों को उज्ज्वला निःशुल्क गैस कनैक्शन | 1.38 करोड़ घरों को निःशुल्क विधुत कनैक्शन | जिला मुख्यालय को 24 घंटे, तहसील मुख्यालय को 22 घंटे, ग्रामीण क्षेत्र मे 18-20 घंटे बिजली की आपूर्ति | 83 लाख से अधिक लोगों को विभिन्न तरह की पेंशन | 30 हजार ग्राम पंचायतों मे शुद्ध पेयजल योजना | वरासत अभियान मे 8 लाख से अधिक लोगों को सहूलियत | इन कार्यो से आम आदमी का जीवन स्तर बेहतर हुआ है |
शिक्षा – 1.35 लाख सरकारी स्कूलों का कायाकल्प | प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना | 3 राज्य विश्वविद्यालय, 194 राजकीय माध्यमिक विद्यालय, 51 राजकीय महाविद्यालय, 28 इंजीनियरिंग कालेज, 26 पॉलटेक्नीक, 79 आईटीआई, 248 इंटर कालेज, 18 मंडलों मे अटल आवासीय और 711 कस्तूरबा विद्यालय की स्थापना | बालिकाओं के लिए स्नातक तक निःशुल्क शिक्षा व्यवस्था | प्राथमिक विद्यालयों मे निःशुल्क ड्रेस, जूते-मोजे, स्कूल बैग एवं पुस्तकों का वितरण | श्रमिकों के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा | 1 करोड़ 78 लाख 46 हजार 513 छात्रों को कुल 13,618 करोड़ से अधिक छात्रवृत्ति का वितरण | महिलाओं के लिए मिशन शक्ति अभियान | सभी थानों पर महिला हेल्प डेस्क की स्थापना | 23 लाख माताओं को लाभ | मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला मे 6 लाख से अधिक बेटियों को लाभ | 51 हजार के अनुदान के साथ 1 लाख 52 हजार से अधिक कन्याओं का विवाह | अल्पसंख्यक मुस्लिम महिलाओं को बिना महरम के हज पर जाने की सुविधा |
स्वास्थ्य – 30 नए मेडिकल कॉलेज का निर्माण | गोरखपुर और रायबरेली मे एम्स संचालित | अटल बिहारी बाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय का निर्माण प्रारंभ | देश के सबसे बड़े प्लाज्मा बैंक की लखनऊ मे स्थापना | दिमागी बुखार पर नियंत्रण, मृत्युदर मे 95 प्रतिशत की कमी | आयुष्मान भारत मे 1.18 करोड़ परिवारों को रुपया 5 लाख का बीमा कवर | 10-12 लाख परिवारों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना का बीमा कवर | 6 नए सुपर स्पेशियलिटी मेडिकल ब्लॉक की स्थापना | सरकारी स्वास्थ्य केन्द्रो पर प्रत्येक रविवार विशेष इलाज अभियान |

रोजगार – 4 लाख लोगों को सरकारी नौकरी | स्व-रोजगार मे 50 लाख से अधिक एमएसएमई को 2.13 लाख करोड़ का ऋण और इनमे 1.80 करोड़ लोगों को रोजगार | ओडीओपी योजना मे 25 लाख से अधिक लोगो को रोजगार, बड़ी औधोंयोगिक इकाई मे 3 लाख लोगो को रोजगार | स्टार्टअप मे 5 लाख लोगो को रोजगार | 58,758 बैंकिंग सखी | 10 लाख सेल्फ हेल्प ग्रुप मे 1 करोड़ से अधिक महिलाओं को जोड़ना | 40 लाख श्रमिकों की स्किल मैपिंग करके रोजगार | मनरेगा मे 1.50 करोड़ को रोजगार | प्रथम डेटा सेंटर नोएडा मे 50 हजार युवाओं को रोजगार | उच्च शिक्षा, और विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों, आंगनवाड़ी मे नियुक्ति हेतु प्रक्रिया चल रही है |
इन्फ्रास्ट्रक्चर एवं कनेक्टिविटी – 5 अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट | 8 एयरपोर्ट संचालित, 13 अन्य एयरपोर्ट एवं 7 हवाई पट्टी का निर्माण | 341 किमी पूर्वाञ्चल एक्सप्रेस – वे का निर्माण अंतिम चरण मे | 297 किमी बुंदेलखंड एक्सप्रेस – वे का निर्माण कार्य प्रगति पर | 594 किमी गंगा एक्सप्रेस – वे के निर्माण की प्रक्रिया शुरू | 91 किमी लंबे गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस – वे का कार्य प्रगति पर | बलिया लिंक – एक्सप्रेस वे को मंजूरी | 13,189 किमी नई सड़कों का निर्माण, 13,613 किमी सड़कों का चौड़ीकरण, 3,32,804 किमी सड़कों का गड्ढा मुक्तिकरण और 428 पुलों का निर्माण | तहसील मुख्यालय एवं विकास खंड मुख्यालय दो लेन सड़क मार्ग से जोड़ने का कार्य | उत्तर प्रदेश से जुड़ने वाले अन्य प्रदेश / देश की सीमाओं तक जाने वाली 76 सड़कों हेतु 1599 करोड़ की लागत से 840 किमी लम्बाई मे कार्य प्रगति पर | नोएडा, लखनऊ, गाजियाबाद, कानपुर, आगरा, मेरठ, गोरखपुर, वाराणसी, प्रयागराज, एवं झांसी मे मेट्रो रेल परियोजना | नोएडा मे फिल्म सिटी की स्थापना | इंवेस्टर मीट मे 4.68 लाख करोड़ के MOU हस्ताक्षरित एवं 3 लाख करोड़ की परियोजना का प्रारंभ | कोरोना काल मे 56 हजार करोड़ के विदेशी निवेश प्रस्ताव प्राप्त | एक जनपद एक उत्पाद योजना |
यदि आप राजनैतिक चश्मे से देखेंगे तो इस विकास मे आपको ढेरों खामियाँ दिखाई दे सकती है परंतु आजादी के पश्चात प्रदेश की वर्तमान स्थिति का बिना किसी भेद-भाव और पक्षपात के मूल्यांकन करेगे तो कसौटी के सारे पैमानो पर योगी एक सफल नेतृत्वकर्ता के रूप मे मजबूती से आगे बढ़ते दिखाई देगे | इनके सफल प्रयसा से देश में यूपी दूसरे नंबर की इकोनॉमी वाला राज्य बन गया है, प्रति व्यक्ति आय भी दोगुनी हुई है | ईज़ ऑफ डूइंग बिज़नस रैंकिंग मे देश मे दूसरे स्थान पर है | वर्ष 2017 मे बेरोजगारी दर 17.5 प्रतिशत से अब मार्च 2021 मे 4.1 प्रतिशत रह गयी है | प्रधानमंत्री आवास योजना मे देश मे प्रथम, शौचालय निर्माण मे देश मे प्रथम, प्रधानमंत्री किसान निधि योजना लागू करने मे देश मे प्रथम, विधुत कनैक्शन वितरण मे देश मे प्रथम, गन्ना, चीनी, आलू, हरी मटर, आम, आंवला, और दुग्ध उत्पादन मे प्रथम, सूक्ष्म/लघु एवं मध्यम उद्योगों की स्थापना मे देश मे प्रथम है | श्री राम नगरी अयोध्या, काशी विश्वनाथ धाम वाराणसी, कृष्ण जन्मभूमि मथुरा, बौद्ध सर्किट श्रावस्ती और रामायण सर्किट चित्रकूट का विकास आम जनता के उम्मीदों से कई गुना भव्य हुआ है | इन सबमे सबसे बड़ी उपलब्धि अपराधियों के खिलाफ लगातार बड़ी कार्यवाही कर अपराध के आंकड़ों मे तेजी से कमी लाना और माफियाओं द्वारा अर्जित 1000 करोड़ से अधिक की अवैध संपत्तियों का जब्तीकरण है | इन कार्यो से आम जन का भरोसा योगी मे अत्यधिक मजबूत हुआ है | योगी के सफल नेतृत्व और प्रभावशाली कार्य की उक्त उपलब्धियाँ इस बात की सटीक और प्रत्यक्ष प्रमाण है की योगी प्रदेश के विकास को अमलीजामा पहनाने मे सफल रहें है और आगामी 1 वर्षो की अवधी मे अपने कार्यों से राम-राज्य की कल्पना को साकार करने मे अवश्य सफल होगें |
डॉ. अजय कुमार मिश्रा
drajaykrmishra@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *