Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644


अभा हिन्दू महासभा और मप्र युवा शिव सेना गौरक्षा न्यास ने प्रधानमंत्री एवं गृहमंत्री को पत्र लिखकर मांग की


उज्जैन। गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली में स्थित लाल किले पर लगे राष्ट्रीय ध्वज को उखाड कर जमींदोज करने वाले किसान आंदोलन कार्यकर्ताओ पर राष्ट्र द्रोह का मुकदमा दर्ज कर दिल्ली पुलिस कमिश्नर को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त करा जावें एवं दिल्ली में हो रहे किसान आंदोलन के उपर तुरंत एक्शन लेकर सख्ती बरतते हुए सभी आंदोलन कार्यकर्ताओ को दिल्ली से बाहर कर आंदोलन को किसी भी कीमत पर खत्म किया जावें।


उक्त मांग अखिल भारत हिन्दू महासभा और मध्यप्रदेश युवा शिव सेना गौरक्षा न्यास ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर की है। महासभा प्रदेश कार्यकारिणी अध्यक्ष मनीषसिंह चौहान ने कहा कि 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के पावन अवसर पर देश की राजधानी दिल्ली में ट्रेक्टर रेली की परमिशन देना ही गलत था।

इसे भी पढ़े : आरोप: धर्म परिवर्तन के लिए लोगों को इकट्ठा कर लाए,फादर का इन्कार

परमिशन देने के बाद भी दिल्ली पुलिस रैली में शामिल कई देश द्रोही शामिल थे उनको पहचानने में बहोत बडी चुक की है इसका परिणाम यह आया कि उन देश द्रोहीयों ने लाल किले पर चढकर राष्ट्र ध्वज तिरंगा निकालकर जमिन पर फेका और खालसा समुदाय का झंडा लाल किले पर लगा दिया।

सभी दोषियों पर राष्ट्र ध्वज के अपमान में राष्ट्र द्रोह का मुकदमा दर्ज कर इनको कडी से कडी सजा दी जावें। ऐसा लगता है कि इस आंदोलन के पीछे पाकिस्तान की आईएसआई व भारत के सिम्मी आंतकवादी और कट्टरपंथी रोहिंग्या मुसलमान इस आंदोलन में शामिल है जो इस आंदोलन को खत्म नही होने देना चाहते है। केन्द्र गृह मंत्रालय को जॉच करना चाहिये कि इतने बडे आंदोलन की फंडिंग कहा से हो रही है और जो किसान नेता इसमें शामिल है उनके बैंक अकाऊंट और सम्पत्ति की जॉच के साथ मोबाईल की कॉल डिटेल निकाल कर इस आंदोलन की सीबीआई जॉच करवाई जावे।

इस आंदोलन से भारत विरोधी ताकते भारत की बुनियाद हिलाने की साजिश रच रही है। लाल किले पर जो शर्मनाक घटना घटित हुई इसके लिये दिल्ली पुलिस कमिश्नर जिम्मेदार है इतनी बडी संख्या में जब भीड लाल किले की ओर बढ रही थी तो पुलिस क्या कर रही थी।

पुलिस, सीआईडी, केन्द्र पुलिस बल सहित और भी कई बडे निगरानी विभागों द्वारा लाल किले की निगरानी और रक्षा व्यवस्था संभाल रहे थे और लाल किले में झण्डा वंदन के दौरान भारत के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, गृहमंत्री, और भी कई बडी हस्तीयाँ लाल किले में मौजूद थी आंदोलनकर्ताओ की मंशा देश के बडे नेताओ को चोट पहुचाने की रही होगी जब लाल किले से नेताओ की मौजूदगी हटी वैसे ही सुरक्षा व्यवस्था में ढिल दी गई और आंदोलनकर्ताओ द्वारा लाल किले पर लगे ध्वज को जमिदोंज कर दिया। इसके लिये दिल्ली पुलिस कमिश्नर जिम्मेदार है इन्हे तत्काल प्रभाव से बर्खास्त किया जावें।

इसे भी पढ़े : नाबालिग लड़की को अगवा कर 10 हजार में बेचा, 25 दिन बाद अब इस हाल में मिली पीड़िता—

अखिल भारत हिन्दू महासभा और मध्यप्रदेश युवा शिव सेना गौरक्षा न्यास प्रदेश अध्यक्ष मनीषसिंह चौहान, किसान महासभा प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष कैलाश माली, हिन्दू महासभा प्रदेश संगठन मंत्री मंगलसिंग डाबी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह से मांग की कि इन सभी देश द्रोहीयों पर कडी कार्यवाही तुरंत की जावे अन्यथा हिन्दू महासभा और मध्यप्रदेश युवा शिव सेना गौरक्षा न्यास द्वारा देशव्यापी आंदोलन की शुरूआत की जावेगी।

फाइल फोटो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *