Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

उज्जैन। कोरोनावायरस के चलते शहर में मार्च के अंतिम सप्ताह में लॉकडाउन  लगाया गया था और भीड़ ना बढ़े इसलिए जनसुनवाई भी बंद कर दी गई थी! अब उपचुनाव भी निपट गए लॉकडाउन भी खत्म हो गया परंतु जनसुनवाई की शुरुआत अभी तक नहीं हो पाई है !आम जनता अधिकारियों के पास जनसुनवाई में इसलिए आती है कि जब निचले अधिकारी उनकी शिकायत पर ध्यान  नहीं देते हैं और शिकायतकर्ता तहसील सहित अन्य कार्यालयों  के चक्कर काटकर परेशान हो जाता है तो वह जिले के वरिष्ठ अधिकारी के पास अपनी शिकायत लेकर जाता है!

इसे भी पढ़े : जीरो ड्रग्स अभियान के अंतर्गत नकली बॉडीबिल्डिंग सप्लीमेंट फैक्ट्री का भंडाफोड़

कई शिकायतों के तो निराकरण मौके पर ही हो जाते हैं और कई शिकायतें जांच के लिए लंबित रखी जाती है जनसुनवाई की शुरुआत इस उद्देश्य के साथ की गई थी कि आम जनता को इधर उधर भटकना न पड़े और वह सीधे जिले के अधिकारी से मिलकर अपनी समस्या रख सके फिलहाल कोठी पर होने वाली जन सुनवाई नहीं हो रही है और ना ही जनसुनवाई को शुरू करने की अधिकारी रुचि दिखा रहे हैं अधिकारियों ने भी कोराना की आड़ लेकर जनसुनवाई को बंद कर रखा है!

इसे भी पढ़े : पुलिस भाजपा के इशारे पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर कर रहीं कार्यवाहीं – वानखेड़े

सूत्रों का कहना है कि जनसुनवाई में भीड़ बढ़ेगी जबकि शादी समारोह में जब 200 लोगों को आने की अनुमति प्रशासन दे रहा है तो जनसुनवाई में तो 200 से कम ही लोग पहुंचते हैं अब आम जनता भी जागरुक हो चुकी है और वह सोशल डिस्टेंस का भी पालन करने लगी है इसके साथ ही 3 दिनों से बिना मास्क के घूम रहे लोगों पर भी चालानी कार्रवाई सहित जेल की हवा भी खिलाई जा रही है तो फिर जनसुनवाई शुरू होना चाहिए प्रति मंगलवार को 11:00 से 2:00 तक जन सुनवाई होती थी आम जनता इस विश्वास के साथ आती थी जब कहीं पर सुनवाई नहीं हो रही है तो यहां पर तो अधिकारी हमारी बात सुनेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *