Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644
तमिलनाडु की राजनीति गरमाई
मई 2021 में तमिलनाडु में होने हैं विधानसभा चुनाव
नेताओं ने चेन्नई एयरपोर्ट पर पहुँचकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का किया स्वागत

अमित शाह का ये दौरा यूँ तो कई विकास परियोजनाओं के उद्घाटन के लिए है, लेकिन इस दौरान वो राज्य की राजनीतिक हालात का भी जायजा लेंगे। मई 2021 में तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव होने हैं और भाजपा चाहती है कि वो इस बार बड़ी ताकत बनकर उभरे।


तमिलनाडु में जिस अन्नाद्रमुक के नेता भाजपा की ‘वेल यात्रा’ का विरोध कर रहे थे और सरकार इसकी अनुमति नहीं दे रही थी, उसी पार्टी के नेताओं ने चेन्नई एयरपोर्ट पर पहुँचकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का स्वागत किया। शनिवार की दोपहर के बाद से ही मीनामबक्कम इंटरनेशनल एयरपोर्ट के बाहर सरगर्मी तेज़ हो गई थी और इसके साथ ही पूरे तमिलनाडु में भी अमित शाह के आगमन को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म रहा।

इसे भी पढ़े : ट्रक व ट्रैक्टर की भिड़ंत में दो लोगों की हुई मौत ,दो घायल

न सिर्फ भाजपा, बल्कि अन्नाद्रमुक के हजारों कार्यकर्ता भी अपनी पार्टी के पोस्टर-बैनरों और झंडों के साथ एयरपोर्ट कूच कर गए और अमित शाह का स्वागत किया। मुख्यमंत्री पलानिस्वामी ने खुद एयरपोर्ट जाकर अमित शाह का औपचारिक स्वागत किया। एयरपोर्ट रूट को राज्य सरकार ने फूलों और हरियाली से सजाया हुआ था।

सिटी पुलिस ने चेन्नई को फ़िलहाल एक किले में बदल दिया है और सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। पुलिस के अलावा सीआरपीएफ और एसटीएफ के कुल मिला कर 3000 जवानों को मोर्चेबंदी पर लगाया गया है। थ्री लेयर सिक्योरिटी के साथ बम स्क्वाड भी मौके पर तैनात है। होटल में बड़े नेताओं के साथ मिलने के बाद अमित शाह को कलेवणार आरंगम में कई प्रोजेक्ट्स को लॉन्च करना है।

अमित शाह अन्नाद्रमुक के दोनों दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्रियों एमजी रामचंद्रन (MGR) और जयललिता की समाधि स्थल पर जाकर उन्हें श्रद्धांजलि देंगे। इसके अलावा उन्हें चेन्नई मेट्रो के फेज-3 का भी उद्घाटन करना है। भाजपा के सभी जिलाध्यक्षों के साथ बैठक के दौरान चुनावी रणनीति पर चर्चा होगी।2019 लोकसभा चुनावों के परिणाम को देख कर अंदाज़ा लगाया जा रहा है कि राज्य में DMK इस बार पूरी तैयारी के साथ उतरने वाली है, क्योंकि वो लगातार तीसरा विधानसभा चुनाव नहीं हारना चाहती।

पार्टी सुप्रीमो स्टालिन भी पहली बार मुख्यमंत्री बनने का सपना देख रहे हैं। अन्नाद्रमुक में वर्तमान सीएम पलानिस्वामी और पूर्व सीएम पन्नीरसेल्वल, इन दोनों की एकता पर सब निर्भर करता है। रजनीकांत ने अपने पत्ते अब तक नहीं खोले हैं। इससे पहले अपने मुखपत्र के माध्यम से अन्नाद्रमुक ने कहा था कि राज्य में जाति-धर्म के आधार पर लोगों को विभाजित करने वाली यात्रा नहीं निकालने दी जाएगी।

फाइल फोटो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *