Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644
बड़े जाम का सबब बन रही

अंबेडकरनगर। जिला मुख्यालय पर अवैध टैक्सी स्टैंडों को लेकर यातायात पुलिस की मेहरबानी बड़े जाम का सबब बन रही है। इसके अलावा नगर के फौव्वारा तिराहा से लेकर दोस्तपुर चौराहे तक व बस स्टेशन से लेकर पटेलनगर तिराहा क्षेत्र तक आड़े तिरछे ढंग से खड़े होने वाले निजी, टैक्सी व मालवाहनों को लेकर यातायात पुलिस की बेफिक्री भी प्रतिदिन जाम में सहायक हो रही है। पूरे नगर में टैक्सी व बड़े निजी वाहनों की धमा चौकड़ी प्रतिदिन जारी रहती है, लेकिन यातायात पुलिस पर कोई असर नहीं पड़ता। ऐसे में प्रतिदिन जाम की समस्या से जूझने वाले नागरिकों ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि जब जिम्मेदार ही लापरवाह हो जाएं, तो जाम की समस्या तो बढ़ेगी ही।


जिला मुख्यालय पर जाम की समस्या एक बार फिर से बढ़ चली है। लगभग प्रतिदिन जिला मुख्यालय पर प्रमुख मार्गों पर घंटों लगने वाले जाम से नागरिकों को बड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। सड़कों पर बढ़ता वाहनों का दबाव तो जाम का कारण है ही, लेकिन सबसे बड़ा कारण अवैध टैक्सी स्टैंड तथा वाहनों की मनमाने ढंग से पार्किंग भी है। यातायात पुलिस की नाक के नीचे संचालित अवैध टैक्सी स्टैंडों पर लगभग पूरे दिन आड़े तिरछे वाहन खड़ा कर वाहन चालक यात्रियों को बैठाते व उतारते हैं। यह सब जगह जगह तैनात यातायात पुलिस की निगाहों के सामने होता है, लेकिन किसी भी प्रकार की कार्रवाई करने की सुध नहीं होती। नतीजा यह होता है कि ऐसे आड़े तिरछे वाहनों से जाम लग जाता है, जिसका खामियाजा जाम में फंसे नागरिकों को भुगतना पड़ता है।

इसे भी पढ़े : आखिर कब होगा शिप्रा नदी का शुद्धिकरण


बताते चलें कि जिला मुख्यालय पर लगभग आधा दर्जन अवैध टैक्सी स्टैंड मौजूदा समय में संचालित हैं, जो न सिर्फ सुचारु यातायात को प्रभावित करते हैं बल्कि सरकारी राजस्व को भी तगड़ी चपत लगा रहे हैं। टांडा व बसखारी टैक्सी स्टैंड वैसे तो विद्युत उपकेंद्र के निकट है, लेकिन इन मार्ग पर जाने वाले प्राइवेट वाहन ज्यादातर समय अकबरपुर बस स्टेशन के निकट ही सड़क के किनारे आड़ा तिरछा वाहन खड़ा कर सवारियां उतारते व बैठाने का कार्य करते हैं। यह सब तब होता है जब मौके पर यातायात पुलिसकर्मी प्रत्येक समय मौके पर मौजूद रहते हैं। नगर का सबसे व्यस्त चौराहा पुराना तहसील तिराहा है। इसके बावजूद कांजी हाउस स्थित टैक्सी स्टैंड पर प्राइवेट वाहन खड़ा करने केबजाए तिराहे के पास ही आड़ा तिरछा खड़ा कर चालक सवारियां बैठाने व उतारने का कार्य करते हैं। लखनऊ जाने वाली सभी बसें तिराहा के निकट ही खड़ी होकर सवारियां बैठाती हैं। इससे लगभग पूरे दिन रुक रुककर जाम की समस्या उत्पन्न होती रहती है।


इसके अलावा दोस्तपुर रोड पर काली मंदिर पर वैध टैक्सी स्टैंड पर वाहन खड़ा करने की बजाए चौराहे के निकट, पहितीपुर रोड पर चौराहे के निकट, मालीपुर व जलालपुर के लिए जाने वाले वाहनों का टैक्सी स्टैंड पुलिस चौकी के निकट है, लेकिन ज्यादातर वाहन चौराहे के निकट क्रय विक्रय समिति के निकट ही खड़ा कर सवारियां उतारते व बैठाते हैं। नगर के शहजादपुर फौव्वारा तिराहे से लेकर पहितीपुर चौराहा व दोस्तपुर चौराहा तक का क्षेत्र अवैध टैक्सी स्टैंड का सबब बन गया है। यहां न सिर्फ अलग अलग मार्गों पर जाने वाले वाहन अवैध ढंग से स्टैंड बना रखे हैं वरन निजी चार पहिया वाहनों के साथ साथ मालवाहनों के मनमाने ढंग से खड़े होने के चलते भी जाम की नौबत बनी रहती है। ऐसे वाहनों को क्रेन से हटवाने, बड़ा जुर्माना करने या फिर कड़ी कार्रवाई करने की तरफ यातायात पुलिस का ध्यान नहीं जा रहा।


यातायात पुलिस टीम को जरूरी निर्देश दिए गए हैं। अब लापरवाही पाए जाने पर कार्रवाई होगी। नगर में कहीं भी अवैध ढंग से स्टैंड चलता मिला तो संज्ञान लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *