Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

दीपावली की खुशियां शोक की लहर में डूब गई ।

पिता सदमें में आ गए और ट्रेन के सामने आकर अपनी जान दे दी।

राजनांदगांव 15 नवंबर 2020 :-


कामठी लाइन में हर वर्ग की तरह अग्रवाल परिवार भी दीपावली की खुशियां मना रहा था पूरा परिवार आतिशबाजी का आनंद ले रहे थे। तभी अग्रवाल परिवार के पुत्र ने व्यवसायिक परिसर में जाकर फांसी लगा ली। इस बात की जानकारी जब पिता तक पहुंची तो सदमे में आ गए और ट्रेन के सामने कूद कर अपनी जान दे दी। जैसे ही इस घटना की जानकारी आसपास वालों को लगी पूरे मोहल्ले में मातम सा छा गया और दीपावली की खुशियां शोक की लहर में डूब गई ।

जी हां यह पूरा वाक्या राजनांदगांव के कामठी लाईन स्थित अग्रवाल परिवार का बताया जा रहा है। खबर है कि शनिवार रात साढ़े दस से ग्यारह बजे कामठी लाइन निवासी गोविंद अग्रवाल अपने पूरे परिवार के साथ दीपावली का त्यौहार मना रहे थे। पूरा परिवार पटाखों की आतिशबाजी का आनंद ले रहा था। इसी बीच पिता गोविंद अग्रवाल और पुत्र विकास अग्रवाल के बीच किसी बात को लेकर कहा सूनी हो गई।

इसे भी पढ़े : राष्ट्रीय राजमार्ग 233 पर रविवार की भोर हुए सड़क हादसे में एक क्लीनर की मौत ।

पुत्र विकास अग्रवाल नाराज होकर नंदई- मोहारा के पास स्थित अपने व्यवसायिक परिसर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इसकी सूचना मिलने पर पिता गोविंद अग्रवाल सदमें में आ गए और एक बड़ा कदम उठाते हुए उन्होंने ट्रेन के सामने आकर अपनी जान दे दी। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गोविंद अग्रवाल की उम्र लगभग 65 वर्ष बताई जा रही है। वहीं पुत्र विकास अग्रवाल की उम्र 35 वर्ष बताई जा रही है। आत्महत्या की वजह अभी स्पष्ट नहीं हो पा रही है। पूरे मामले की जांच के बाद ही खुलासा हो पाएगा कि पुत्र ने क्यों फांसी लगाई और पिता ने ट्रेन के सामने कटकर क्यों जान दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *