Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644
  • ऋणमुक्तेश्वर की संपत्ति बचाने के लिए चल रही आंदोलन की बड़ी तैयारी
  • भर्तृहरि गुफा के योगी पीर महंत रामनाथ महाराज बोले- हमें अनावश्यक परेशान कर रहे
  • यह संपत्ति मेरी निजी नहीं सम्प्रदाय की है इसकी सुरक्षा हमारी जिम्मेदारी

उज्जैन। नाथ सम्प्रदाय के देशभर के सैकड़ों साधु-संत शीघ्र ही उज्जैन में जुटने वाले हैं। यह साधु-संत यहां अपने सम्प्रदाय की शिप्रा किनारे ऋणमुक्तेश्वर की संपत्ति को बचाने के लिए उमड़ेंगे और शासन-प्रशासन से यहां कब्जा करने वाले तथाकथित लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग को लेकर उज्जैन में कलेक्टोरेट के बाहर 21 धुनी रमाकर प्रदर्शन करेंगे।

उज्जैन में अखिल भारतीय नाथ सम्प्रदाय के मठाधिश एवं भर्तृहरि गुफा के योगी पीर महंत श्री रामनाथ महाराज ने कहा कि ऋणमुक्तेश्वर की सम्पत्ति कोइ मेरी निजी नहीं है। बल्कि नाथ सम्प्रदाय की है। और इसकी सुरक्षा करना मेरे सहित सम्प्रदाय के समस्त संत-महंतों की है। नाथ सम्प्रदाय के ऋणमुक्तेश्वर के महंत गुलाबनाथ के निधन के बाद से उनसे जुड़े कई तथाकथित लोग यहां अपना कब्जा जमाने के उद्देश्य से लगातार प्रशासन को भ्रमित कर अपना अधिकार होना बता रहे हैं। जबकि नाथ सम्प्रदाय अपने नियम-कानून के अनुसार यहां चादर विधि कर उज्जैन व सम्प्रदाय के अनेकों साधु-संतों की मौजूदगी में नए महंत के रूप में  महावीरनाथ की नियुक्ति कर चुका है।

इसके बावजूद कुछ लोग यहां कब्जा करने की कोशिश में है। मामला कोर्ट में चल रहा है। इसे लेकर नाथ सम्प्रदाय कानून की मर्यादा का सम्मान करते हुए कोई कदम नहीं उठा रहा। लेकिन कब्जाधारी नहीं मान रहे हैं। पिछले दिनों उन्होंने नदी के बीच बच्चों के साथ खड़े होकर सत्याग्रह के नाम पर नोटंकी की  थी। नाथ सम्प्रदाय के मुख्यालय गौरखपुर से लगातार साधु-संत ऋणमुक्तेश्वर के मामले को लेकर नजर रखे हुए है और जानकारी प्राप्त कर रहे हैं|

इसे भी पढ़े : शराब के नशे में शादी करने जाना एक दूल्हे को पड़ा महंगा

हाल ही में हुई सम्प्रदाय की बैठक में सभी साधु-संतों ने मिलकर यह निर्णय लिया कि शीघ्र ही वे उज्जैन में एकत्रित होंगे जिसमें उत्तरप्रदेश, हरियाणा, गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान व मप्र के सैकड़ों साधु-संत यहां कलेक्ट्रोरेट में एकत्रित होकर ऋणमुक्तेश्वर की संपत्ति की सुरक्षा व कब्जे का प्रयास करने वाले लोगों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग को लेकर धुनी रमाएंगे व धरना, प्रदर्शन करेंगे। इसकी समस्त जवाबदारी शासन-प्रशासन की होगी।

योगी पीर महंत श्री रामनाथ महाराज ने यह भी कहा कि सम्प्रदाय की जगह पर किसे महंत बनाकर बैठाना है यह कार्य शासन-प्रशासन का नहीं सम्प्रदाय व उनके अधिकृत साधु-संतों का है। प्रशासन की जिम्मेदारी केवल सही व्यवस्था बनाना और पुलिस की जिम्मेदारी सुरक्षा करना है।

महाराज ने यह भी बताया कि ऋणमुक्तेश्वर की संपत्ति पर प्रहलाद नाम का जो व्यक्ति कब्ज करने की कोशिश कर रहा है उसका नाथ सम्प्रदाय से कही कोई लेना देना ही नहीं है। असल में वह जिला नागौर राजस्थान का रहने वाला है। और उनका मूल कार्य सारंगी वादन करना है। पिछले 8-9 वर्ष पूर्व वह गुलाबनाथ के संपर्क में आया था और तभी से उसकी नजर यहां की संपत्ति पर है। ऋणमुक्तेश्वर पर भी वह फूल-प्रसाद की दुकान लगाता था। शासन-प्रशासन से मांग है वह कब्जाधारियों पर कार्रवाई कर सम्प्रदाय की संपत्ति की सुरक्षा में सहयोग करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *