Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN Editor - Neelam Dass, Add. - 105 Jawahar Marg, Ujjain M.P., India - Mob. N. - +91- 8770030644

नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों के बीच अच्छी खबर आई है. भारत कोरोना वायरस वैक्सीन (Coronavirus vaccine) बनाने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है. सरकारी वैज्ञानिकों के मुताबिक फरवरी 2021 में देश को ‘कोवैक्सीन’ (Covaxin) मिल सकती है. यह वैक्सीन पूरी तरह से स्वदेशी होगी. भारत की इस तेजी को दुनिया बड़ी सफलता मान रही है.


भारत बायोटेक और ICMR कर रहा विकसित

इस वैक्सीन को भारत बायोटेक और ICMR द्वारा विकसित किया जा रहा है. एक वरिष्ठ सरकारी वैज्ञानिक ने कहा है, वैक्सीन के अंतिम चरण के परीक्षण इसी महीने से शुरू हो जाएंगे. कोरोना वायरस टास्क फोर्स के सदस्य व आईसीएमआर वैज्ञानिक रजनी कांत ने कहा, अब तक की तमाम रिसर्च से पता चला है कि वैक्सीन सुरक्षित है और प्रभावी है. उम्मीद है कि अगले साल की शुरुआत में फरवरी या मार्च तक वैक्सीन मिल जाए.

इसे भी पढ़े : 24 घाटों को रोशन करेंगे करीब 6 लाख दीये दिए


दूसरी लहर ने बढ़ाई चिंता

अब तक भारत की उम्मीद ब्रिटेन की एस्ट्राजेनेका पर टिकी हुई थी, लेकिन अब स्वदेशी वैक्सीन पर तेजी से काम हो रहा है. ऑस्ट्रेलिया भी वैक्सीन को जल्द पाने के प्रयास में जुट गया है. तमाम टीकों की 135 मिलियन खुराक खरीदने के लिए तैयार है. यूरोप और अमेरिका में आ चुकी कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने सभी की चिंता बढ़ा दी है. इन हालातों से निपटने में कोवैक्सीन कारगर साबित हो सकती है. बता दें, भारत गुरुवार को 50,201 कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों के साथ अमेरिका के बाद दूसरे स्थान पर है. 704 लोगों की मृत्यु के बाद मौत का कुल आंकड़ा 124,315 पहुंच गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *